‘कोई अपना सा हो’  थैलेसीमिया पीड़ित बच्चों के लिए कार्यरत संस्था कर रही सराहनीय कार्य

100

रायपुर| राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से राजभवन में कोई अपना सा हो फाउंडेशन रायपुर की संस्थापक अध्यक्ष श्रीमती काजल सुरेश सचदेव ने सौजन्य मुलाकात की। राज्यपाल ने कहा कि आपकी संस्था जो कार्य कर रही है, वह सराहनीय है। यह मानव कल्याण का कार्य है। मैं इस संबंध में यथासंभव मदद करूंगी और शासन को निर्देशित करूंगी। उन्होंने राज्यपाल को बताया कि यह संस्था थैलेसीमिया बीमारी से पीड़ित बच्चों के इलाज के लिए कार्य करती है।

श्रीमती सचदेव ने बताया कि उनके स्वयं के एक बच्चा थैलेसीमिया से पीड़ित हैं। उनके इलाज के दौरान मुझे यह कार्य करने की प्रेरणा मिली। उसके पश्चात मैंने अपने पति सुरेश सचदेव के सहयोग से मैंने ऐसे बच्चों की मदद करने का संकल्प लिया। उन्होंने बताया कि अब तक लगभग 12 बच्चों का बोनमेरो ट्रांसप्लांट कराया जा चुका है और करीब 400 परिवारों की काउंसिलिंग की गई है। शादी से पहले या गर्भावस्था के समय इससे संबंधित आवश्यक मेडिकल टेस्ट कराया जाए, तो इस बीमारी से बचा जा सकता है।