कैवल्य धाम में भगवती दीक्षा महोत्सव 10 से 12 फरवरी तक

714

सूरत के दर्शन बागरेचा लेंगे दीक्षा
धमतरी से भी शामिल होंगे अनेक समाजन
धमतरी. कैवल्य धाम में भगवती दीक्षा महोत्सव का आयोजन 10 से 12 फरवरी तक किया गया है. सूरत (गुजरात) में रहने वाले दर्शन बागरेचा यहां दीक्षा लेंगे. उनकी उम्र अभी 23 वर्ष है. 7 साल पहले ही वे वैराग्य मार्ग की ओर अग्रसर हो गए थे. बीते 4 साल से वे अध्यात्म योगी मुनि महेंद्र सागर आदि ठाणा 12 के सानिध्य में धार्मिक शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं. अब उन्हीं के सानिध्य में दीक्षा भी लेने जा रहे हैं. कैवल्य धाम ट्रस्ट के अध्यक्ष धरमचंद लुनिया महामंत्री सुपारस गोलछा ने बताया कि महोत्सव में शामिल होने देशभर से 40 साधु-साध्वियां राजधानी पहुंचेंगे. इनमें बस्तर प्रहरी साध्वी प्रखर व्याख्यात्रीसाध्वी चंदन बालाजी, मंडल प्रमुखा मनोरंजनाश्री, शासन प्रभाविका सम्यक दर्शन श्री समेत 28 साध्वियां और 12 साधु शामिल हैं. देशभर से श्रद्धालु भी शामिल होंगे.महोत्सव के लाभार्थी सूरत निवासी केसरीमल, प्रवीण, संजय बागरेचा परिवार (पराग वाले) हैं. 3 दिवसीय महोत्सव के विधिकारक अरविंद भाई चौरसिया-इंदौर और विमल गोलछा-रायपुर रहेंगे. उल्लेखनीय है कि मणीधारी मित्र मंडल धमतरी, विहार सेवा ग्रुप धमतरी को दीक्षा महोत्सव की जवाबदारी दी गई है। धमतरी से लगभग 100 से ज्यादा समाजजन दीक्षा समारोह में शामिल होंगे। जिसमें प्रमख रुप से विजय लाल बरडिय़ा, संतोष पारख, जीवन लोढ़ा, संजय लोढ़ा, विजय गोलछा, आकाश गोलछा, धरम पारख, अशोक राखेचा सहित महिलाएं, बच्चे समाजजन शामिल होंगे।
10 को महापूजन से होगी महोत्सव की शुरुआत
आयोजन के प्रचार प्रभारी चंद्रप्रकाश ललवानी ने बताया कि 10 फरवरी को दोपहर 12.36 बजे महाजन के साथ तीन दिवसीय दीक्षा महोत्सव की शुरूआत होगी. इसी दिन मूल मंदिर में रात्रि भक्ति की जाएगी. अगले दिन सुबह स्नात्र महोत्सव के बाद 8.30 बजे वर्षीदान वरघोड़ा निकाला जाएगा. जो तीर्थ परिसर स्थित निपुणा आध्यात्मिक वाटिका पहुंचेगा, जहां तपस्वी मोहन-मनोज गोलछा संयमजीवन पर केंद्रित संगीतमय प्रस्तुति देंंगे