कलेक्टर ने चिकित्सकों की बैठक लेकर बदली हुई परिस्थितियों में आवश्यक उपाय करने के निर्देश दिए ब्लड सैम्पलिंग के लिए जिले में आठ बूथ खोले गए

438

धमतरी|  कलेक्टर  रजत बंसल ने आज दोपहर जिला चिकित्सालय में डाॅक्टरों एवं वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक लेकर कोविद-19 नोवल कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण को भांपते हुए वर्तमान समय में बदली परिस्थितियों के अनुसार भारत सरकार एवं राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों का अक्षरशः पालन करने तथा आवश्यक उपाय करने के निर्देश दिए। साथ ही जरूरी उपकरणों की उपलब्धता के लिए प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने जिला अस्पताल में डाॅक्टरों से चर्चा कर वर्तमान में उपलब्ध सुविधाओं एवं सेवाओं के साथ-साथ किसी प्रकार की आपातकालीन परिस्थिति से निबटने के लिए की गई व्यवस्थाओं की जानकारी ली। इसी तरह कोरंटाइन सेंटर में रखे गए लोगों को भी शासन के निर्देशों का कड़ाई से पालन करने के संबंध में समझाइश देने की बात कही। इस बाबत कोरंटाइन सेंटर में रखे गए व्यक्ति स्वास्थ्यगत कारणों से किसी तरह की मांग आने पर समन्वय समिति के समक्ष प्रकरणों को प्रस्तुत कर उनका निराकरण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिला अस्पताल में आवश्यक उपकरण जैसे पीपीई किट, एन 95 एवं सामान्य मास्क, आइसोलेशन वार्ड में प्रयुक्त होने वाले सभी आवश्यक उपकरणों की उपलब्धता हर हाल में सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला अस्पताल में 25 बिस्तरयुक्त नए वार्ड को सेंट्रल आॅक्सीजन सप्लाई करने शीघ्र परिवर्तित करने के निर्देश दिए। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.डी.के.तुर्रे ने बताया कि एसएनसीयू वार्ड में यूपीएस सिस्टम, मल्टी पैरामाॅनिटर, पल्स आॅक्सीमीटर, ईसीजी मशीन, ए.सी. तथा एक नई एम्बुलेंस की शीघ्र आवश्यकता है। इस पर कलेक्टर ने शासन को पत्र लिखकर अवगत कराने के लिए निर्देशित किया। सीएमएचओ ने बताया कि कोरोना वायरस की जांच के लिए कुल आठ ब्लड सैम्पलिंग सेंटर स्थापित किए गए हैं, जिसमें प्रत्येक विकासखण्ड में दो-दो सेंटर में प्रतिदिन ब्लड सैम्पल प्राप्त किए जाते हैं। कलेक्टर ने इसकी सराहना करते हुए शासन द्वारा निर्धारित प्रतिदिन सैम्पल की संख्या अनुसार ही नमूने संग्रहित करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने विशेष तौर पर निर्देशित किया कि बाहर राज्यों अथवा जिलों से आने वाले लोगों को अनिवार्य रूप से 14 दिनों की कोरंटाइन में कड़ाई से रखा जाए। साथ ही होम कोरंटाइन में रहने वाले लोगों के घरों में अनिवार्य रूप से ताला लगाने के निर्देश दिए, ताकि वे उक्त अवधि में हरहाल में किसी के सम्पर्क में आने ना पाएं। इसके लिए उनसे तत्संबंध में शपथ पत्र भी भराया जाए। इस दौरान कलेक्टर ने जिला पुलिस की कार्यशैली और मुस्तैदी की काफी प्रशंसा की कि पुलिस के जवानों के द्वारा पूरी सजगता के साथ ड्यूटी की जा रही है। इसके अलावा जिला अस्पताल से लगी आवासीय काॅलोनी जहां इन दिनों पेड़ कटाई का कार्य चल रहा है, वहां पर मोहल्ला क्लिनिक खोलने के लिए एस्टीमेट तैयार करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। साथ ही कलेक्टर ने सीएमएचओ को एक वाॅइस मैसेज के माध्यम से जिले की मितानिनों, और मैदानी कार्यकर्ताओं को छत्तीसगढ़ी में संबोधित करते हुए समय की गम्भीरता और संवेदनशीलता को देखते हुए ऐसे लोगों को चिन्हांकित कर जानकारी भेजने तथा खुद को भी सुरक्षित रखने की अपील करते हुए सोशल मीडिया में प्रसारित करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर विभिन्न विभाग के अधिकारीगण मौजूद थे।