एक नवंबर से धान खरीदी की शुरुआत करें भूपेश सरकार: हेमंत सिन्हा 

296

मगरलोड | क्षेत्र के युवा कृषक व अधिवक्ता हेमंत कुमार सिन्हा ने भूपेश सरकार से पूर्ववर्ती सरकार की भांति 1 नवंबर से सोसाइटी के माध्यम धान खरीदी करने की मांग की है | श्री सिन्हा ने कहा कि वर्तमान परिवेश में प्रत्येक किसान पुरानी पद्धति को छोड़कर मशीन के माध्यम से कृषि कार्य संपादित करता है |अधिकांश किसान धान की कटाई, मिजाई इत्यादि कार्य मशीन से करते हैं। पहले धान भंडारण हेतु ब्यारा एवं कोठी का निर्माण करते थे किंतु अब कोई भी किसान कोठी नहीं रखते | धान की मिजाई  के बाद किसान अपनी उपज को विक्रय के लिए  सीधे धान खरीदी केंद्र ले जाते है | लगभग 50 प्रतिशत किसानों की उपज नवंबर में कट जाती है| किसानों के पास धान भंडारण करने की क्षमता नहीं है। असमय हो रही बारिश से धान के उत्पादन पर भी असर पड़ेगा | लम्बे समय तक किसान अपनी उपज को नहीं रख सकते | किसानों की परेशानी को  देखते हुए सरकार 1 नवंबर से धान खरीदी की शुरुआत करें साथ ही पिछले सत्र की खरीदी का बोनस राशि शीघ्र प्रदान करें | श्री सिन्हा ने आगे कहा कि मगरलोड क्षेत्र का आधा हिस्सा वनांचल है | जहां आदिवासी कमार, हलबा, गोड जाति के लोग निवास करते हैं| जिसे पूर्वर्ती सरकार द्वारा वन पट्टा एवं कृषि अधिकार किसान पुस्तिका दी गई  जिसमें वह कृषि कार्य संपादित करता है |वन पट्टाधारी की मृत्यु के उपरांत संबंधित भूमि के फौती नामांतरण की प्रक्रिया तहसील क्षेत्र में जटिल है | जिससे वन पट्टाधारी सालों से भटक रहे हैं| उन्होंने जिलाधीश से निवेदन किया है कि फौती  नामांतरण के लिए विशेष पहल की जाए  ताकि उन्हें  दिक्कतों का सामना न करना पड़े |