एक जुलाई से शुरू हो रहे रोका-छेका अभियान का सफलता से संचालन के प्रभारी मंत्री ने दिए निर्देश

98

एक जुलाई से शुरू हो रहे रोका-छेका अभियान का सफलता से संचालन सुनिश्चित करें
प्रभारी मंत्री श्रीमती अनिला भेड़िया ने समीक्षा बैठक में दिए निर्देश
शासन की महत्ती योजनाओं का मैदानी स्तर पर सही तरीके से क्रियान्वयन पर दिया जोर
ज़िले के 45 पंचायतों में शत-प्रतिशत कोरोना टीकाकरण पर जताई प्रसन्नता

धमतरी | प्रदेश की महिला एवं बाल विकास, समाज कल्याण मंत्री तथा ज़िले की प्रभारी मंत्री श्रीमती अनिला भेड़िया ने आज ज़िला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर विभिन्न विभागीय योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने सभी अधिकारियों को मैदानी क्षेत्र का दौरा कर योजनाओं के सही क्रियान्वयन और लोगों की समस्यायों को जानने का प्रयास करते रहने पर ज़ोर दिया ।


स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं की सबसे पहले समीक्षा प्रभारी मंत्री ने कलेक्टोरेट सभा कक्ष में शाम साढ़े तीन बजे से आहूत बैठक में की। इस मौके पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ डी.के.तुर्रे ने बताया कि ज़िले में कोरोना का टीका कुल 3,15,753 लोगों को लगाया जा चुका है। इसमें पहला डोज 2,52,832 और दूसरा डोज 62,921 लोगों को लगाया जा चुका है। ज़िले की 45 पंचायतें ऐसी हैं, जहां शत-प्रतिशत लोगों को कोरोना टीका लगाया जा चुका है। इसे प्रभारी मंत्री ने काफी सराहा। बैठक में बताया गया कि ज़िले में कुल 1795 मितानिन है, हैल्थ एंड वेलनेस सेंटर 175 हैं। ज़िले में मुख्यमंत्री हाट बाज़ार के तहत इस सप्ताह से शिविर लगाया जाना शुरू हो गया है। इसके तहत जिले के कुल 22 शिविर लगेंगे। इसी तरह मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना की समीक्षा के दौरान बताया गया कि दो शहरी मोबाइल यूनिट भी है।


ज़िले में विशेषज्ञ चिकित्सक की जानकारी देते हुए बताया गया कि ज़िला अस्पताल में रेडियो डायग्नोस्टिक की कमी है, इसके लिए शासन स्तर पर दो बार नियुक्ति भी हुई, किन्तु उन्होंने ज्वाइनिंग नहीं दी, इसलिए अब संविदा से रेडियो डायग्नोस्टिक रखने की योजना है। ज़िले में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर की गई तैयारियों की भी प्रभारी मंत्री ने बैठक में समीक्षा की। उन्होंने कोरोना काल में ज़िला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए गए कार्यों की भी सराहना की।
कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि ज़िले में खाद बीज की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता है। कुल खाद जिसमे यूरिया डी.ए.पी., एम.ओ.पी., एस.एस.पी., एन.पी.के. हेतु 50100 मीट्रिक टन के लक्ष्य के विरुद्ध 38504 मीट्रिक टन का भंडारण और 22496 मीट्रिक टन का वितरण किया गया है। इसमें डी.ए. पी. खाद का लक्ष्य 17500 मीट्रिक टन के विरुद्ध 9133 मी. टन का भंडारण और 6197 मीट्रिक टन का वितरण किसानों को किया गया है। इसी तरह विभिन्न फसल के बीज भंडारण का लक्ष्य 37080 क्विंटल के विरुद्ध 64% का भंडारण और 18405.4 क्विंटल अर्थात 76% का वितरण कर दिया गया है।
स्कूल शिक्षा विभाग की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा के दौरान ज़िला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि धमतरी शहर के बठेना स्थित अंग्रेजी माध्यम स्कूल में पहली से 12 तक के 758 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। इसके अलावा हर ब्लॉक मुख्यालय नगरी, कुरूद, मगरलोड में इस सत्र से अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोला जा रहा है। इसकी तैयारी पूरी कर ली गई है। इन स्कूलों में जुलाई माहांत तक शिक्षकों की नियुक्ति कर दी जाएगी। अब तक अंग्रेजी माध्यम स्कूल में कुल 2934 विद्यार्थी प्रवेश ले चुके हैं। बैठक में प्रभारी मंत्री ने निजी स्कूलों में अनाप शनाप फीस वसूली ना हो इस पर निगाह रखने ज़िला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया। इसके अलावा महतारी दुलार योजना के तहत माता/पिता या दोनों या फिर परिवार के कमाने वाले व्यक्ति की कोरोना से मृत्यु होने पर अब तक 209 बच्चे पात्र पाए गए हैं। इन्हें उनकी इच्छा अनुसार स्कूलों में प्रवेश दिया जा रहा है। शासकीय स्कूलों में 134 और निजी स्कूलों में 75 बच्चों को प्रवेश दिया जा रहा है। यह भी बताया कि स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूलों में योजना के तहत 14 बच्चों को प्रवेश दिया गया है। प्रभारी मंत्री ने योजना के तहत पूरी संवेदनशीलता के साथ बच्चों को स्कूली शिक्षा हेतु लाभान्वित करने पर जोर दिया।
उन्होंने बैठक में मनरेगा के तहत किए गए कार्यों की समीक्षा भी की। मुख्य कार्यपालन अधिकारी, ज़िला पंचायत श्रीमती प्रियंका महोबिया ने बैठक में बताया कि ज़िले में कुल 157464 जॉब कार्ड धारी परिवार हैं। इनमें सक्रिय परिवार 148364 है। यहां कुल पंजीकृत श्रमिकों की संख्या 404293 है, इनमें सक्रिय श्रमिक 330644 है। ज़िले में इस वित्तीय वर्ष में 100 दिवस का रोज़गार प्राप्त परिवार 722 तथा अर्जित मानव दिवस 35.44 लाख और प्रति परिवार औसत मानव दिवस 25 है। यह भी बताया गया कि इस वर्ष कुल 2375 कार्य 8784.38 लाख के किए जाएंगे। फेस 1 और 2 में कुल 333 धान संग्रहण चबूतरा कुल 631.37 लाख के स्वीकृत कर बनाए गए गए। इनमें मनरेगा और अन्य मदों को मिलाकर यह कार्य कराया गया है। इसी तरह मनरेगा और अभिसरण से 230.72 लाख के 15 नवीन पंचायत भवन स्वीकृत कर बनाए गए। चारागाह विकास की प्रगति की जानकारी देते हुए बताया गया कि कुल स्वीकृत 128 चारागाह में से 73 पूर्ण, 41 प्रगतिरत हैं। इसी तरह 2019-20 में 21 नरवा में 183 कार्य स्वीकृत किए गए और 138 पूर्ण, वर्ष 2021-22 में 18 नरवा में 264 कार्य स्वीकृत कर 137 प्रगतिरत है। मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के तहत मनरेगा, 15 वें वित्त और डीएमएफ के अभिसरण से 81.23 एकड़ क्षेत्र में 14 हज़ार 964 पौधे रोपे जाएंगे। इसमें मिश्रित, फलदार मिश्रित वृक्षारोपण की योजना है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की समीक्षा के दौरान बताया गया कि ज़िले में 8715 स्व सहायता समूह में कुल 97 हजार 280 सदस्य हैं। गौठान की प्रगति की समीक्षा के दौरान बताया गया कि ज़िले में 249 गौठान पूर्ण हैं और अब तक तैयार 12 हजार 800 क्विंटल वर्मी में से 8187 क्विंटल वर्मी का वितरण किया जा चुका है। प्रदेश सहित जिले में कल से शुरू होने वाले रोका-छेक़ा अभियान की तैयारी की भी प्रभारी मंत्री ने समीक्षा की। उन्होंने सभी गांव में इस अभियान का सही तरीके से संचालन करने के निर्देश बैठक में दिए हैं।
विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि मुख्यमंत्री बिजली बिल हाफ योजना के तहत मई माह में एक लाख 23 हजार 215 उपभोक्ताओं को 400 यूनिट तक की 50% दो करोड़ 79 लाख 64 हजार 379 राशि की छूट दी गई है। इस मौके पर प्रभारी मंत्री ने खराब ट्रांसफार्मर को जल्द बदलने और वोल्टेज की समस्या की शिकायत आने पर तत्काल कार्रवाई करना सुनिश्चित करने के निर्देश विभाग को दिए हैं। बैठक में महिला एवं बाल विकास की समीक्षा के दौरान बताया गया कि कोरोना की वजह से गत मार्च माह से आंगनबाड़ी आने वाले बच्चों को गरम पका भोजन नहीं दिया जा रहा, इसके बदले सूखा राशन वितरित किया जा रहा। ज़िले में बच्चों में कुपोषण का दर 8% के आस-पास है। इस पर प्रभारी मंत्री ने साफ तौर पर निर्देश दिए हैं कि आगामी सात से 16 जुलाई तक मनाए जाने वाले वज़न त्यौहार में पांच साल तक की आयु के बच्चों का सही तरीके से वज़न लेना सुनिश्चित किया जाए।
बैठक में क्रेडा, मछली पालन, उद्यानिकी, प्रधानमन्त्री ग्राम सड़क योजना, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, खाद्य, खनिज, वन इत्यादि विभागों के योजनाओं की भी समीक्षा कैबिनेट मंत्री श्रीमती भेड़िया ने की। इस मौके पर सिहावा विधायक डॉ.लक्ष्मी ध्रुव ने सभी विभागीय अधिकारियों को पूरी जवाबदेहिता के साथ अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करने के निर्देश दिए। बैठक के अंत में कलेक्टर श्री पी.एस. एल्मा ने प्रभारी मंत्री को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिए गए मार्गदर्शन के परिपालन में सभी विभागीय अधिकारी मैदानी स्तर पर योजनाओं का क्रियान्वयन सही तरीके और पूरी गंभीरता से करेंगे। बैठक में छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग की उपाध्यक्ष सुश्री राजकुमारी दीवान, धमतरी नगरपालिक निगम के महापौर श्री विजय देवांगन, ज़िला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कांति सोनवानी, उपाध्यक्ष श्री निशु चंद्राकर, श्री शरद लोहाणा, पूर्व धमतरी विधायक श्री गुरुमुख सिंह होरा सहित पुलिस अधीक्षक श्री बी.पी. राजभानु सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।