इतिहास में अंकित रहेगा शिलान्यास व देश की जनता का उत्साह- समर्पण – रंजना साहू

483

धमतरी | भारतीय इतिहास हमे बताता है कि देश की गुलामी से पहले हमारी आस्था केंद्र पवित्र स्थल राममन्दिर हेतु संघर्षशील थे अर्थात 490 वर्षो का संघर्ष चलता रहा।
संघर्षो इति श्री माननीय मोदी जी के हाथों 5 अगस्त को शिलान्यास से हुआ। देश की रामभक्त -हिन्दू भाईयो ने अपने विश्वास को स्वरूप में देखने का उत्साह गांवो में, शहर व शहर के वार्डो में देखने मिला। जनसमुदाय श्रीराम जी की जय-जयघोष करते वहीं मा. मोदी जी को हृदय से धन्यवाद देते रहे  आराध्य श्रीराम जी के प्रति प्रेम विश्वास और आस्थापूर्ण उत्साह में भी जनसमुदायो जिस प्रकार समर्पण देखने मिला निश्चित ही कल्पना सा प्रतीत हो रहा था। जनसमुदायो का उत्साह – समर्पण आने वाले भविष्य गाथा में इतिहास बनकर अंकित होंगे, वही हम भी गर्व की अनुभूति करते हुए अपनी आनेवाली पीढ़ियों को गर्वगाथा स्वरूप बताने का आनंद भी प्राप्त होगा !!