आज़ादी के दीवानों की कुर्बानी नहीं भुलाई  जा सकती – शशि पवार

473

जिला भाजपा कार्यालय में हुआ ध्वजारोहण

धमतरी | देश अपनी आजादी की आज़ादी की 74 वीं वर्षगाँठ मना रहा है। देशवासियों के हृदय में आज़ादी के महानायकों के प्रति आज भी वही सम्मान कायम है। प्रति वर्ष 15 अगस्त को देश का हर नागरिक चाहे वह किसी भी वर्ग का हो किसी भी धर्म का हो या किसी भी क्षेत्र का हो एक समान उत्साह और उल्लास के साथ स्वतंत्रता दिवस का पर्व मनाता है। स्वतंत्रता दिवस पर भाजपा जिला कार्यालय में ध्वजारोहण करते हुये जिले के अध्यक्ष ठा शशि पवार ने कहा कि इस वर्ष का स्वतंत्रता दिवस कई मायनों में विशेष महत्व का है। आज़ादी तो हमने 1947 में पा ली थी किंतु अनेक ऐसे मुद्दे थे जिनके कारण ऐसा लगता था मानो वास्तविक आज़ादी अभी भी बाकी है। काश्मीर का मुद्दा आज़ादी के समय से ही हमारे लिये चिंता का विषय बना हुआ था। देश का मुकुट होते हुये भी वह राज्य मुख्य धारा से कटा हुआ था। वहाँ का विधान वहां का निशान वहां का प्रधान अलग होता था। ग्लानि होती थी जब सारे देश मे तिरंगा शान से लहराता था तो श्रीनगर अलग ही राग अलापता था |धारा 370 एवं 35 अ को समाप्त कर  प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी एवं  गृहमंत्री  अमित शाह ने देश का स्वाभिमान लौटा कर हमें गर्व से जीने का अवसर दिया। देश तो आजाद हो गया था परन्तु विदेश से आये आततायियों के कब्जे से प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि आज़ादी के 7 दशक बाद भी मुक्त नही हो पाई थी।

लंबे संघर्षों एवं बलिदानों के बाद हमने अदालत के निर्णय से सभी पक्षों को व्यापक रूप से सुनवाई के अवसर देने के पश्चात प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि को भी आज़ाद कराया। 5 अगस्त को जन्मभूमि अयोध्या में प्रभु श्री राम के भव्य मंदिर की स्थापना हेतु प्रधानमंत्री द्वारा शिलान्यास कर देश के 100 करोड़ हिंदुओं का सपना साकार किया गया। इन सभी के अलावा पिछले 6 वर्षों में स्वच्छता सुरक्षा सेवा शिक्षा स्वास्थ्य इत्यादि के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य किये गये। किसानों मजदूरों महिलाओं युवाओं सहित सभी वर्ग के हितों का विशेष ख्याल रखते हुये योजनाओं का निर्माण हुआ। सबको आवास सबको बिजली सबको पानी सबको सड़क देने का अपना वादा इस सरकार ने पूरा किया। उन्होंने आगे  कहा  कि  देश मोदी जी के नेतृत्व में विश्व गुरु बने, आत्मनिर्भर बने और एक महाशक्ति के रूप में भारत की अपनी पहचान बने  |