आगामी मानसून के पहले बाढ़ आपदा प्रबंधन एवं राहत की तैयारियों को लेकर हुई बैठक

27

धमतरी 21 मई 2021/ आगामी मानसून को देखते हुए बाढ़, अतिवृष्टि जैसी आपदाओं से बचाव के लिए आज शाम को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिला स्तरीय बाढ़ आपदा प्रबंधन समिति की बैठक हुई जिसमें जिला पंचायत के सी.ई.ओ. श्री मयंक चतुर्वेदी ने संबंधित विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने जिले में अतिवृष्टि के चलते बाढ़ की स्थिति से निबटने के लिए विभागीय अधिकारियों को कार्ययोजना तैयार करने के लिए निर्देशित किया।


आज शाम चार बजे आयोजित बैठक में सी.ई.ओ. ने कहा कि विगत वर्षों की सूचना के आधार पर जिले मंे ऐसे 77 ग्राम हैं जो बाढ़ से प्रभावित होते हैं। इन ग्रामों में चार महीने का राशन एवं खाद-बीज का भण्डारण स्थानीय शासकीय भवन, सामुदायिक भवनों में सुनिश्चित संबंधित विभाग के अधिकारी आगामी एक जून से पूर्व सुनिश्चित करें। इसके अलावा ऐसे ग्राम जो अतिवृष्टि से प्रभावित हो सकते हैं, की भी सूची आगामी एक जून तक तैयार कर बाढ़ आपदा नियंत्रण कक्ष में मुहैया कराने के निर्देश जनपद पंचायतों के सी.ई.ओ. को दिए। इसी तरह मोटरबोट चालकों एवं गोताखोरों की सूची सहित अतिरिक्त स्टाफ की भी जानकारी राहत शाखा में उपलब्ध कराने के निर्देश जिला सेनानी को दिए। साथ ही अधिक बारिश से सम्पर्क टूटने वाली सड़कों की सूची तैयार कर माहांत तक प्रदाय करने के निर्देश सभी जनपद पंचायतों के सी.ई.ओ. को दिए। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री चतुर्वेदी ने नगरीय निकाय क्षेत्रों में भी राहत केन्द्र एवं आपातकालीन स्थिति में लोगों को अस्थायी तौर पर ठहराने वाले भवनों की लिस्टिंग कर प्रतिवेदन शाखा में उपलब्ध कराने के निर्देश आयुक्त नगरपालिक निगम को दिए। बाढ़ आपदा से होने वाले नुकसानों का संज्ञान समय-सीमा मंे लेते हुए पीड़ितों को यथाशीघ्र आर्थिक सहायता प्रदाय करने के संबंध में सभी अनुविभागीय अधिकारियों को सी.ई.ओ. ने निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि पीड़ित व्यक्ति को राहत पहुंचाना शासन की उच्च प्राथमिकता में शामिल है, इसलिए ऐसे प्रकरणों को गम्भीरता से लेते हुए अविलम्ब कार्रवाई करें।
बैठक में जल संसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता को नहर लाइनिंग मरम्मत से संबंधित सभी काम पूर्ण कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश सी.ई.ओ. ने दिए। जनपद पंचायत नगरी के सी.ई.ओ. ने बताया कि नगरी की तीन ग्राम पंचायत रिसगांव, खल्लारी व करही बाढ़ आपदा के तौर पर संवेदनशील ग्राम हैं जहां बारिश के दिनों में अन्य ग्रामों से सम्पर्क टूट जाता है। जिला पंचायत के सी.ई.ओ. ने इन ग्रामों में आवश्यक सामग्रियों की उपलब्धता एक जून के पूर्व सुनिश्चित करने के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिए। बारिश में होने वाली बीमारियों के लिए मितानिन पेटी में आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराने के भी निर्देश उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए। जिले की ऐसी मछुआ समितियां जिनके पास नाव उपलब्ध हैं, की सूची मछलीपालन विभाग से प्राप्त कर राहत शाखा में जमा कराने के लिए भी उन्होंने निर्देश उन्होंने निर्देशित किया। बैठक में अपर कलेक्टर श्री दिलीप अग्रवाल, एएसपी श्रीमती मनीषा ठाकुर, एसडीएम धमतरी श्री चंद्रकांत कौशिक, नगर निगम आयुक्त श्री मनीष मिश्रा, बाढ़ आपदा प्रबंधन के नोडल अधिकारी श्री डी.सी. बंजारे सहित संबंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे। अनुविभाग एवं जनपद स्तर के अधिकारी वी.सी. के माध्यम से बैठक मंे जुड़े रहे।