आईएसीपी अंतराष्ट्रीय अवार्ड पाने वाली छत्तीसगढ़ की पहली महिला आईपीएस बनी भावना गुप्ता

194

दुनिया में हर साल केवल 40 पुलिस अफसरों को मिलता है यह अवार्ड
रायपुर । यह काफी गर्व की बात है कि छत्तीसगढ़ की महिला आईपीएस अफसर को अंतराष्ट्रीय स्तर पर मिलने वाला पुरस्कार का हकदार माना गया है। बेमेतरा में पुलिस अधीक्षक के पद पर पदस्थ आईपीएस भावना गुप्ता को आईएसीपी अवार्ड से नवाजा गया है। यह अवार्ड प्रतिवर्ष विश्व के श्रेष्ठ 40 पुलिस अफसरों को दिया जाता है।

यह अवार्ड मिलने के बाद यह भी सिद्ध हो गया है कि छत्तीसगढ़ की बेटियां किसी से कम नहीं हैं। अपने अथक मेहनत और लगन से आईपीएस बनी भावना गुप्ता को अंतराष्ट्रीय अवार्ड मिलना न केवल उनके व परिवार के लिए गर्व की बात है, बल्कि यह पूरे प्रदेशवासियों के लिए गौरान्वित करने वाला पल है। भावना गुप्ता को प्रतिष्ठित 40 अंडर 40 आईएसीपी अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है, जो हर साल दुनिया भर में पुलिस सेवा में 40 लीडर को दिया जाता है. इसके साथ ही वह यह सम्मान पाने वाली राज्य की पहली महिला आईपीएस बन गई हैं। यह पुरस्कार एसपी सूरजपुर और एसपी सरगुजा के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान उनके उत्कृष्ट कार्य और नेतृत्व के लिए दिया गया है। विशेष रूप से महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में  उल्लेखनीय कार्य के लिए उनका चयन किया गया है। इसके पूर्व यह अवार्ड आईपीएस आरिफ़ शेख और संतोष सिंह को मिल चुका है।