अमीर हाशमी की शॉर्ट फिल्म “खंडहर” लॉन्च

399

इंडियन आर्मी की गुमशुदा कहानियों को समर्पित फ़िल्म हो रही हैं इंटरनेट पर ट्रेंड

धमतरी| एक्टर, फ़िल्ममेकर अमीर हाशमी की शॉर्ट फिल्म “खंडहर (दि लॉस्ट आर्मी हॉस्पिटल)” कल शाम लॉंच की गई| यू-ट्यूब पर फ़िल्म के आते ही इस फ़िल्म को अच्छी सराहना मिल रही हैं| अपनी सोशल टॉपिक पर बनाई जाने वाली फिल्मों के लिए हाशमी जाने जाते हैं| स्वच्छ भारत मिशन पर आधारित शॉर्ट फिल्म “मिरर ऑफ दि क्लीन इंडिया में अपने किरदार और फ़िल्म के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त करने के बाद अमीर हाशमी की ‘खंडहर’ स्थानीय प्रतिभाओं के साथ बनी शॉर्ट फ़िल्म हैं|

अमीर हाशमी ने बताया कि फिल्म में आदित्य नाम के एक युवा लड़के के किरदार को निभा रहे हैं, जो एक बीहड़ जंगल में खोकर कैप्टन विनोद और भारतीय सेना की बलिदान कहानी के साथ जुड़ता है, फ़िल्म की कहानी दिल्ली के आयुष्मान सिंह ने लिखी हैं तथा छत्तीसगढ़ फ़िल्म इंडस्ट्री के उल्लेखनीय अभिनेता सचिन सोनी और जाने माने थियेटर आर्टिस्ट आकाश गिरि गोस्वामी फिल्म में प्रमुख भूमिकाएं निभा रहे हैं। फ़िल्म की सिनेमेटोग्राफी शहर के ही सागर कौशिक ने की हैं तो वहीं अनमोल सोनी ने फ़िल्म की कलर ग्रेडिंग पर दिन रात एक कर दिया। अमीर कहते हैं कि छत्तीसगढ़ में टेलेंट की कोई कमी नहीं हैं, मैं लॉकडाऊन पूर्व से ही मुंबई नहीं जा पाया था और बॉलीवुड में तो जैसे सब कुछ थम सा गया हैं, कहीं कोई हलचल कोई काम नहीं हो पा रहा हैं और होता भी है तो किसी के कोविड पॉज़िटिव आते ही फिर बन्द करना पड़ता हैं| गृहराज्य में रहते हुए कुछ समय गुज़ारने के बाद लोकल लेवल  पर ही उन्होंने टेलेंट की तलाश की और सारे कलाकारों को एकत्र करके फ़िल्म प्रोडूयूस करने का निश्चय किया और लगभग चालीस दिन में फ़िल्म पूरी तरह तैयार कर ली। हाशमी कहते हैं कि मेरा केवल एक ही मकसद हैं |इस फ़िल्म के माध्यम से आज का युवा जो अपनी ही मस्त मौला ज़िन्दगी में कहीं व्यस्त हैं उन्हें देश की मिट्टी और इसकी रक्षा करने वाले सच्चे हीरोज़ की कहानियों से अवगत करा सकें| मैं अपनी पूरी टीम के साथ सेनानिवृत के.पी.साहू का भी धन्यवाद करता हूँ जिनका हमें मार्गदर्शन और सानिध्य मिला| इस पूरे प्रोडक्शन में केवल एक बात की कमी रह गई हैं कि फ़िल्म का क्लाइमेक्स मैंने राहत इंदौरी  से लिखवाने का निर्णय किया था लेकिन नीयति को शायद कुछ और ही मंजूर था फ़िल्म की एडिटिंग के दौरान ही राहत साहब चल बसे| हालांकि उनकी जगह अब क्लाइमेक्स के एक वॉइस ओवर पार्ट को आशीष तन्हा ने बख़ूबी लिखा है जिन्होंने हाशमी के लिए मिरर फ़िल्म के डायलॉग्स लिखे थे।