अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर कर्मशील स्वालंबी महिलाओं का किया गया सम्मान

78

धमतरी पुलिस द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर  विभिन्न कार्य क्षेत्रों में कर्मशील स्वालंबी महिलाओं का किया गया सम्मान

महिलाओं एवं महिला कानून की जानकारी देकर अपराध एवं अपराधियों से दूर रहने तथा अपराध घटित पर तत्काल पुलिस को सूचित करने हेतु कहा गया

 धमतरी | महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने वाले 30 महिलाओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया, पुलिस अधीक्षक महोदय  आंजनेय वार्ष्णेय के निर्देशन पर डीएसपी.श्रीमती रागिनी मिश्रा द्वारा महिला दिवस के अवसर पर  धमतरी के विभिन्न कार्य क्षेत्रों में कर्मशील स्वालंबी महिलाओं का सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया गया था।

कार्यक्रम में ऑल इंडिया लीनेस अध्यक्ष जानकी गुप्ता सहित लेडीज़ टेलर ,ब्यूटीपार्लर संचालिका,गोबर आर्टिस्ट ,चॉइस सेंटर संचालिका ,पाक कला आर्टिस्ट,दोना पत्तल बनाने वाली एवं अन्य घरेलू साज सज्जा के समान वाली ,हस्तकला आदि कर्मशील स्वालंबी 30 महिलाओं का सम्मान किया गया।

डीएसपी. श्रीमती रागिनी मिश्रा ने कार्यक्रम को संबोधित कर महिलाओं के उत्थान के संबंध में शासन द्वारा किये जा रहे विभिन योजनाओं के बारे में जानकारी दिया गया साथ ही कार्यों की सराहना की गई।
उन्होनें बताया कि सभी महिलाओं को जागरूक रहना चाहिये अपने बच्चों को अनिवार्य रूप से शिक्षा प्राप्त करने हेतु उचित वातावरण देने हेतु कहा गया महिलाओं को उचित मार्गदर्शन देकर उनका हौसला बढ़ाया एवं अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की सभी को बधाई दी।

उन्होंने ये भी कहा कि महिलाएं एवं बालिकायें समाज की नींव है, बालक एवं बालिकायें को समाज में समान अधिकार प्राप्त हैं। महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा हेतु शासन एवं प्रशासन,पुलिस प्रतिबद्ध है।

महिलाओं की आजीवीका बढ़ाने, विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई,उपस्थित बालिकाओं को रोल माॅडल बनने हेतु प्रोत्साहित किया गया, जिससे कि अन्य लोग अनुकरण कर सके।
उपस्थित महिलाओं को शिक्षा के महत्व को बताते हुये कहा गया कि सभी अपने बच्चों को जरूर पढ़ाये, शिक्षा से हम बेहतर जीवन जीने के साथ-साथ उज्जवल भविष्य का निर्माण कर सकते हैं।

महिला एवं बालिकाओं को अपराध से बचना चाहिये, किसी प्रकार की घटना होने पर तत्काल अपने परिजनों को अवगत कराते हुये तत्काल पुलिस को सूचित करना चाहिये, जिससे कि अपराधियों पर कार्यवाही की जा सके, साथ ही आम जनता से अपील किया गया कि महिलाओं एवं बालिकाओं पर किसी प्रकार का अप्रिय घटना का सहभागी न बनें, न ही अपराधों को छुपाने का प्रयास करें,समाज में व्याप्त अंधविष्वास जैसे-टोनही प्रताड़ना, झाड-फूंक न कराकर तत्काल ईलाज हेतु अस्पताल जाने हेतु जागरूक किया गया।
उपस्थित महिलाओं को नशा के दुष्परिणाम,पाॅक्सो एक्ट,ऑनलाइन ठगी, सायबर अपराध के संबंध में भी विस्तार से बताया गया।

ग्राम में बाहर से आने वाले लोगों की पहचान कर तत्काल पुलिस को अवगत करावें स्वयं को सुरक्षित रखने के संबंध में बताया गया तथा सोशल मीडिया-फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्वीटर का सावधानी एवं सुरक्षित तरीके से प्रयोग हेतु कहा गया।