अनुकंपा नियुक्ति समेत कई मांगों को लेकर छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने सहायक संचालक से की मुलाकात 

520

धमतरी | छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन जिला धमतरी का एक प्रतिनिधिमंडल जिला अध्यक्ष डॉक्टर भूषण लाल चंद्राकर के नेतृत्व में एवं प्रांतीय उपाध्यक्ष देवनाथ साहू की  उपस्थिति में शिक्षक एलबी संवर्ग की विभिन्न समस्याओं को लेकर जिला शिक्षा अधिकारी डॉक्टर रजनी नेल्सन से मुलाकात करने जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय  गया था लेकिन डीईओ मैडम के (वीडियो कांफ्रेंसिग )मीटिंग में होने के कारण से प्रतिनिधि मंडल ने सहायक संचालक आर एन मिश्रा से मुलाकात कर अपनी विभिन्न समस्याओं से अवगत कराते हुए निराकरण की बात कही।
भूषण लाल चंद्राकर एवं देवनाथ साहू ने बताया कि शिक्षक एलबी संवर्ग के मृत शिक्षकों के परिजनों को शीघ्र अनुकंपा नियुक्ति एवं मृत शिक्षकों के समस्त सत्वो का भुगतान की मांग जिला शिक्षाअधिकारी से की है। उन्होंने कहा कि -छत्तीसगढ़ शासन वित्त विभाग मंत्रालय,महानदी भवन नया रायपुर दिनांक 27 अक्टूबर 2017 के आदेशानुसार शासन के समस्त विभागों के कर्मचारियों के लिए जो 01/11/2004 अथवा इसके पश्चात नियुक्त हुए हैं उनके लिए नवीन अंशदाई पेंशन योजना लागू की गई है तथैव योजना के सदस्यों के लिए सेवानिवृत्ति उपादान एवं मृत्यु उपादान लागु करने की बात कही गई है । आदेश के तहत राज्य शासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि अंशदाई पेंशन योजना की सदस्यों की सेवा में रहते हुए मृत्यु अथवा सेवानिवृत्ति पर छत्तीसगढ़ सिविल सेवा पेंशन नियम 1976 के नियम 44 के अनुसार सेवानिवृत्ति उपादान स्वीकृत किया जावे दिनांक 5 /9/2017 के पश्चात सेवा में रहते हुए मृत्यु की स्थिति में शासकीय सेवक द्वारा पूरी की गई प्रत्येक 6 माह की अर्हक सेवा के लिए आधे माह की परिलब्धियो के समान मृत्यु उपादान इस शर्त पर स्वीकृत की जाए की मृत्यु उपादान की न्यूनतम राशि मासिक परिलब्धियों का दोगुना तथा अधिकतम राशि मासिक परिलब्धियों का 33 गुना होगा। उपरोक्त आदेश के आधार पर जिला संगठन ने मांग की है कि धमतरी जिला में भी नवीन अंशदाई पेंशन योजना के सदस्यों हेतु सेवा निवृत्ति उपादान एवं मृत्यु उपादान लागू करने का आदेश जारी करते हुए समस्त डीडीओ निर्देशित किया जावे।  प्रतिनिधिमंडल में जिला सचिव बलराम तारम जिला महासचिव आशीष नायक, कैलाश प्रसाद साहु ,धमतरी ब्लाक अध्यक्ष गेवाराम नेताम, सचिव ज्ञानेश्वर सिन्हा ,महासचिव भगवती सोनी सहित पदाधिकारी गण शामिल थे।