अधिकारियों ने किया डुबान क्षेत्र का दौरा:राशन, रेडी टू ईट वितरण का लिया जायजा

409

राजेश रायचुरा

धमतरी. कोरोना वायरस कोविद-19 के संभावित संक्रमण के नियंत्रण के लिए कलेक्टर रजत बंसल ने जिले के अधिकारियों को गंगरेल जलाशय डुबान क्षेत्र का दौरा कर प्रशासनिक व्यवस्था का जायजा लेने के निर्देश दिए थे, जिसके परिपालन में एसडीएम धमतरी श्री मनीष मिश्रा सहित वन एवं जनपद पंचायत धमतरी के सी.ई.ओ. श्री अमित दुबे ने क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों का दौरा किया। अधिकारियों ने लाॅक डाउन के दौरान राशन, दैनिक उपभोग की आवश्यक वस्तुओं तथा रेडी टू ईट आदि के वितरण की जानकारी ली। साथ ही संबंधित ग्राम पंचायत के सरपंच, सचिव, पंचगण, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं मितानिनों से चर्चा कर वस्तुस्थिति की समीक्षा कर ग्रामीणों से चर्चा की। इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि पीडीएस सेंटर के माध्यम से राशन का

वितरण हो चुका है तथा ग्राम पंचायतों में जरूरतमंदों के लिए दो क्ंिवटल चावल का अतिरिक्त स्टाॅक का भण्डारण किया गया है। इसके अलावा स्कूलों में प्रदाय किए जाने वाले मध्याह्न भोजन के चावल और आंगनबाड़ी केन्द्रों में नौनिहालों को वितरण किए जाने वाले रेडी टू ईट के पैकेट घरों में जाकर बांटा जा चुका है। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि राशन एवं जरूरी सामानों की आपूर्ति में किसी प्रकार की समस्या नहीं आ रही है। एसडीएम ने विशेष तौर पर मनरेगा के कामों के दौरान सुरक्षात्मक उपायों के साथ सोशल डिस्टेंसिंग संबंधी निर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन करने के निर्देश पंचायत सचिवों को दिए। इसके अलावा वन परिक्षेत्राधिकारी के द्वारा लघु वनोपज संग्रहण, उत्पादों के विक्रय के संबंध में ग्रामीणों से चर्चा कर आवश्यक जानकारी दी गई। इसके अतिरिक्त उपस्वास्थ्य केन्द्र अकलाडोंगरी का भी निरीक्षण कर जरूरी दवाओं की उपलब्धता की जानकारी ली गई। अधिकारियों के द्वारा डुबान क्षेत्र के ग्राम कलारबाहरा, हरफर, पटौद, अरौद डू., मोंगरागहन, कोड़ेगांव, चिखली, अकलाडोंगरी आदि ग्रामों का निरीक्षण किया गया।