अगले तीन माह में राजस्व अधिकारी 50 प्रतिशत से अधिक राजस्व प्रकरणों का निराकरण करें: कलेक्टर  

212

धमतरी | जिले के सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और तहसीलदारों को कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य ने निर्देशित किया है कि नामांतरण, बंटवारा के दस प्रतिशत से अधिक प्रकरण एक माह से अधिक चलना नहीं चाहिए। उन्होंने सभी एसडीएम को नियमित रूप से तहसील कार्यालय का दौरा करने कहा, जिससे कि राजस्व न्यायालय के प्रकरणों को जल्दी निपटने में सहूलियत हो। कलेक्टर ने एसडीएम और तहसीलदारों को साफ तौर पर कहा है कि हर हाल में अगले तीन माह में 50 प्रतिशत से अधिक प्रकरणों का निपटारा सुनिश्चित किया जाए। साथ ही यह भी सुनिश्चित करने कहा कि, पटवारी प्रतिवेदन और फड़ बंटवारा प्रतिवेदन दस दिनों के भीतर पटवारी प्रस्तुत करे। उन्होंने राजस्व मामलों को गंभीरतापूर्वक और त्वरित गति से निपटाने पर बल दिया। जिले में दूसरे चरण का धान चबूतरा निर्माण अब दस नवम्बर तक करना होगा, इसके तहत 151 चबूतरा बनाया जाना है तथा राज्य शासन के निर्देशानुसार प्राथमिकता से इसे पूरा करना है। कलेक्टर श्री मौर्य ने समय सीमा की बैठक के दौरान सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत को इसे सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए पूरा करने के निर्देश दिए तथा गोबर खरीदी के लिए शेड निर्माण कराने भी कहा है। उन्होंने मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत श्रीमती नम्रता गांधी को प्रतिदिन धान चबूतरा निर्माण की समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा कलेक्टर ने उन्होंने ब्लॉक में लोगों की समस्या सुलझाने के लिए छोटे-छोटे शिविर लगाने के निर्देश एसडीएम को दिए। साथ ही एसडीएम को निर्देशित करते हुए कलेक्टर ने कहा कि 31 अक्टूबर तक गिरदावरी का सत्यापन किया जाना है, अतः इस कार्य में पटवारियों को लगा दिया जाए। उन्होंने हाल में हुई बारिश से फसल क्षति का आंकलन कर प्रधानमंत्री फसल बीमा तथा जरूरत के हिसाब से आर.बी. सी. 6-4 के प्रकरण जल्द से जल्द तैयार करने के निर्देश सभी एसडीएम को दिए। साथ ही किसानों को फसल क्षति से बचाने में उपयोग की जाने वाली दवा की उचित सलाह देने कृषि अमले को क्षेत्र का नियमित रूप से दौरा करने कहा है। बैठक में खाद्य और सम्बन्धित विभाग को कलेक्टर ने कहा कि इस खरीफ मौसम में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की तैयारियां अभी से शुरू कर दे। बैठक में कलेक्टर ने बताया कि जिले में कोरोना के प्रति जागरूकता लाने सघन अभियान चलाया जाएगा। इसमें मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, स्कूल के शिक्षक, सचिव इत्यादि कीे सहभागिता से लोगों को समझाईश दी जाएगी। इस मौके पर कलेक्टर ने कोविड 19 के संक्रमण से बचाव के लिए सभी अधिकारियों को कार्यालयों में तथा क्षेत्र का दौरा करते समय अनिवार्य रूप से मास्क लगाने की हिदायत दी है। साथ ही समय-समय पर हाथ को धोने अथवा सेनिटाईज करने तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने कहा है। बैठक में कलेक्टर ने समय सीमा पत्रों की समीक्षा कर अधिकारियों को इन्हें जल्द निपटाने के निर्देश दिए। मौके पर वनमंडलाधिकारी अमिताभ बाजपेई, अपर कलेक्टर दिलीप अग्रवाल सहित जिला स्तरीय अधिकारी और वीडियो काॅन्फ्रेंस के जरिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत इत्यादि ब्लॉक से बैठक में जुड़े रहे।