12 घंटे के भीतर पकड़ा गया धान चोर,  दुगली पुलिस की कार्यवाही

32

धमतरी |पुलिस अधीक्षक बी.पी. राजभानु द्वारा लूट, चोरी, नकबजनी जैसे संपत्ति संबंधी अपराधों में लगाम लगाने, आसूचना तंत्र मजबूत करने, सतत पेट्रोलिंग व गस्त सुदृढ़ करने सभी थाना व चौकी प्रभारियों को निर्देशित किया गया है। साथ ही सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने संदिग्ध व्यक्तियों एवं निगरानी बदमाशों की जांच कर उन पर सतत निगाह रखने निर्देशित किया गया, जिसका बेहतर परिणाम भी नजर आ रहा है| प्रार्थी अनूपचंद्र वट्टी ने खरीफ फसल की मिंजाई कर  धान को घर के बड़े हॉल में रखा हुआ था जिसका दरवाजा सड़क की ओर खुलता है। रोज की भांति उसने 19 नवम्बर की रात्रि करीब 11 बजे हॉल के दरवाजा में ताला बंद  देखकर सो गया। दूसरे दिन उसके हॉल के दरवाजों में लगा ताला गायब था तथा हॉल के अंदर रखे हुए धान बोरा में से करीब 9-10 जूट बोरी सुतली रस्सी से सिलाया हुआ गायब था, किंतु हॉल से धान के दाने सड़क की ओर गिरे हुए थे जिससे अनुमान लगाया कि किसी अज्ञात चोर ने उसके 9-10 बोरी धान को रात्रि में चोरी कर ले गया। अगले दिन कौहाबाहरा में बड़ा साप्ताहिक बाजार लगा था जहां धान खरीदी करने वाले व्यापारी आते हैं, यह सोचकर अपने धान एवं अज्ञात चोर की दो-तीन दिन तक पता तलाश किया किंतु उसे कोई जानकारी नहीं मिली |

प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना दुगली में अज्ञात आरोपी के विरुद्ध अपराध क्रमांक 35/20 धारा 457, 380 भादवी के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस अधीक्षक बी.पी. राजभानू  ने  थाना प्रभारी दुगली को अज्ञात आरोपी की पता तलाश कर त्वरित वैधानिक कार्यवाही करने निर्देशित किया| अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे के मार्गदर्शन व पुलिस अनुविभागीय अधिकारी नगरी   नीतिश ठाकुर के पर्यवेक्षण में थाना प्रभारी दुगली दिनेश कुर्रे द्वारा अपने स्टाफ के साथ तत्काल अज्ञात आरोपी की पतासाजी  में  जुट गये | इस  दौरान मुखबिर  की सूचना पर एक महत्वपूर्ण सुराग मिला जिसके आधार पर संदेही गणेश राम उर्फ प्रेम शंकर पडोती की गतिविधियां संदिग्ध होने तथा दूर गांव में पार्टी मनाने की तैयारी कर रहा है। सूचना पर वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा निर्देश में घेराबंदी कर संदेही गणेश राम उर्फ प्रेम शंकर पडोती को पकड़कर कड़ाई से पूछताछ  की गई ।पूछताछ में उसने बताया कि प्रार्थी के घर के सामने उसका घर होने से उसे सभी गतिविधियां तथा धान के हॉल में रखा होना ज्ञात था | आरोपी ने चुराए धान को 5600 रुपए में बिक्री करना  बताया | उसमें से कुछ पैसे खाने पीने में खर्च हो गये  तथा  2300 रुपए  बचे थे |  जिसे जप्त किया गया तथा उसकी निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त लोहे की कुदाली व टूटा हुआ ताला बरामद किया गया है। इस प्रकार थाना प्रभारी दुगली दिनेश कुर्रे के नेतृत्व में अपराध कायमी के 12 घंटे के भीतर धान चोरी करने वाले अज्ञात आरोपी की पतासाजी कर गिरफ्तार करने में सहायक उप निरीक्षक पीडी बांधे आरक्षक चित्रसेन सिद्धार भवन भक्ता का सराहनीय योगदान रहा।

tushar