सिहावा विधायक ने मगरलोड में 20 ऑक्सीजन बेड युक्त क्वारेंटाईन सेंटर खोलने अनुशंसा की

24

नगरी | मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं विधायक सिहावा डॉ लक्ष्मी ध्रुव ने कहा कि पूरे विश्व में कोरोना महामारी का प्रकोप है छत्तीसगढ़ प्रदेश में बढ़ते कोरोना मरीजो की संख्या को देखते हुए एवं सिहावा विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत मगरलोड क्षेत्रवासियों के मांग एवं बढ़ते कोरोना मरीजो के लिए सुविधा पहुंचाने हेतु 20 ऑक्सीजन बेड युक्त क्वारेंटाईन सेंटर खोले जाने के संबंध में कलेक्टर धमतरी को अनुशंसा पत्र लिखा है।
साथ ही नगरी विकासखंड अंतर्गत स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नगरी में कोरोना के अत्यधिक मरीज भर्ती होने आ रहे है यहां ऑक्सीजन बेड की कमी है। जिससे सभी मरीजों को ऑक्सीजन बेड उपलब्ध कराना असंभव हो गया है इसे देखते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नगरी के क्वारेंटाईन सेंटर में अतिरिक्त ऑक्सीजन युक्त बेड मगरलोड एवं नगरी में 20-20 बेड ऑक्सीजन युक्त बढ़ाने की मांग की गई जिसे तत्काल स्वीकृति प्रदान करने हेतु कलेक्टर को अनुशंसा पत्र लिखा गया है।

क्योंकि मगरलोड विकासखंड एवं नगरी विकासखंड अधिकांश क्षेत्र वनों से घिरा हुआ है आने-जाने का रास्ता दुर्गम होने से मरीज क्वारेंटाईन सेंटर में समय पर नहीं पहुंच पा रहे है और पहुंचते भी है तो उनकी स्थिति गंभीर रहती है। जिसके फलस्वरूप नगरी एवं मगरलोड क्षेत्र में कोरोना से होने वाली मृत्यु की संख्या में वृद्धि हो रही है। इससे लड़ने के लिए विधायक डाॅ.लक्ष्मी ध्रुव ने कलेक्टर से बात कर नगरी एवं मगरलोड विकासखण्ड में स्थित विभागों के गाड़ियों को रोटेशन में स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराने की बात कहीं है जिस पर कलेक्टर द्वारा सहमति व्यक्त की गई।
गैस सिलेण्डरों को चलाने के लिए ऑक्सीजन कॉन्सेन्ट्रेटर मशीन चाहिए रहता है इस हेतु नगरी के दान-दाताओं से ऑक्सीजन कॉन्सेन्ट्रेटर मशीन उपलब्ध कराने हेतु अनुरोध किया गया है जिस पर दान-दाताओं द्वारा एक-दो दिन में उपलब्ध कराने हेतु सहमति व्यक्त किये है।
विधायक डॉ. लक्ष्मी ध्रुव ने सिहावा विधानसभा क्षेत्र के समस्त नागरिकों से अनुरोध किया है कि किसी भी व्यक्ति को खासी, सर्दी, जुकाम, सिर दर्द, बुखार शरीर में पीड़ा ऐसा महसूस होता है तो तुरंत निकटतक स्वास्थ्य केन्द्र में आकर अपना स्वास्थ्य परीक्षण करायें जिससे किसी प्रकार के विकट स्थिति से बचा जा सकता है। कोरोना बीमारी से लड़ने का यही एक तरीका है, इससे कोरोना हारेगा हम जीतेंगे।