संस्कृति और सभ्यता आदिवासी समाज की अमूल्य धरोहर : रंजना साहू

183

लीलर में बुढ़ादेव मूर्ति की स्थापना एवं भवन का लोकार्पण  

धमतरी| ग्राम लीलर में आदिवासी समाज द्वारा बुढ़ादेव मूर्ति स्थापना एवं भवन लोकार्पण का कार्यक्रम विधायक रंजना साहू एवं जनप्रतिनिधि की उपस्थिति मेंहुआ। विधायक सहित जनप्रतिनिधि व ग्रामीणों ने सर्वप्रथम भगवान बूढ़ादेव की मूर्ति स्थापना एवं पूजा अर्चना कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। संस्कृति एवं सभ्यता के साथ स्वागत के रूप में लोक पारंपरिक गीत संगीत के साथ विधायक का स्वागत किया गया।

इस अवसर पर  विधायक रंजना डिपेंद्र साहू ने कहा कि हमारी संस्कृति और हमारा संस्कार ही समाज को आगे ले जाता हैं | आदिवासी समाज निरंतर अपनी संस्कृति व संस्कारों के प्रति जागरूक हैं। जब हम अपनी संस्कृति और संस्कारों के संरक्षण के प्रति गंभीर होंगे तभी हम अपने अनुभव जनित ज्ञान को बचाने के उपाय करेंगे। आदिवासी समाज की सबसे बड़ी विशेषता उसकी प्रकृति से समीपता है। विकास के साथ जुड़ने के साथ ही हमें अपने समाज की मान्यताओं, संस्कारों, रीति-रिवाजों, ज्ञान और अनुभव को लिपिबद्ध करने का संकल्प लेना होगा। तभी हम अपनी संस्कृति और संस्कार से न्याय कर पाएंगे। 

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जनपद उपाध्यक्ष अवनेंद्र साहू ने कहा कि आदिवासी समाज  का भवन निर्माण आपसी सहयोग के माध्यम से किया गया है| इसमें एकता की भावनाएं प्रगट होती है| जब तक हम एकता में बंधे होते हैं तभी समाज का विकास होता है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से नगर निगम बठेना वार्ड पार्षद श्यामलाल नेताम, ममता सिन्हा, सरपंच सावित्री मधुकर, सूर्य कुमार नेताम पूर्व जनपद सदस्य, सुनीति रजक, चैनुराम ध्रुव, दुखु नेताम, हेमु कुंजाम, आत्मा मरकाम, रामकुमार मरकाम रुखु नेताम, चमरु नेताम, खेमिन ध्रुव, सरस्वती ध्रुव, भगवंतीन बाई, शिवबती ध्रुव, गजराम ध्रुव, झुमुक नेताम, लखन नेताम, चेतन कुंजाम, रहिमान मरकाम, कीर्ति नेताम, माखन नेताम, चैन सिंह ध्रुव, चोवाराम ध्रुव, पतिराम ध्रुव, मोहन नेताम सहित सामाजिकजन एवं ग्रामीणजन बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।