मोदी सरकार ने किसानो को धोखा दिया समर्थन मूल्य महंगाई से भी कम बढ़ा – लखमा

555

धमतरी | जिले के प्रभारी मंत्री व प्रदेश के वाणिज्य कर आबकारी व उद्योग मंत्री कवासी लखमा धमतरी पहुंचे जहां पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में पत्रकारों से चर्चा की। इस दौरान उन्होने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को कोसते हुए धान के समर्थन मूल्य को 53 रुपये बढ़ाने के फैसले का पुरजोर विरोध किया।

इसी तारतम्य में आज उन्होंने प्रेसवार्ता ली । कांग्रेस के सभी विंग इस संकट के घड़ी में धान का समर्थन मूल्य नाम मात्र बढ़ाने के फैसले का पुरजोर विरोध करेंगे और प्रदेश के सभी जिलों में जिलाधीश को इस संबंध में ज्ञापन सौंपेंगे। उन्होने कहा कि इतनी कम राशि इस संकट की घड़ी में बढ़ाना किसानो के साथ धोखा है। जिससे किसान की आर्थिक स्थिति में कोई सुधार नहीं हो पायेगा। चुनाव के दौरान भाजपाईयों ने किसानों को दुगुना मूल्य देने की बात कही। लेकिन मात्र 53 रुपये बढ़ाकर किसानों को छला जा रहा है। इसलिए पूरे देश व प्रदेश के किसानों के साथ कांग्रेस इसका विरोध कर रही है। इसके विपरीत प्रदेश के भूपेश बघेल सरकार राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से किसानों को चार किश्तो में राशि दे रही है। प्रदेश में विगत दो सालों से 2500 रुपये समर्थन मूल्य की राशि किसानों को दिया जा रहा है।

प्रभारी मंत्री ने आगे कहा कि देश में कोरोना संक्रमण के चलते लाखो लोग बेरोजगार हुए है। लघु व कुटीर उद्योग बर्बाद हो गया है। जितनी मंहगाई बढ़ी है उससे कम समर्थन मूल्य बढाया गया है। यह किसानो के साथ मजाक है। इसके पश्चात सिहावा विधायक डा. लक्ष्मी ध्रुव, कांग्रेस जिलाध्यक्ष शरद लोहाना व पूर्व विधायक गुरुमुख सिंह होरा ने मोदी सरकार के फैसले के विरोध में अपनी बातें रखी। इस दौरान पंकज महावर, महापौर विजय देवांगन, जिलापंचायत उपाध्यक्ष नीशु चन्द्राकर, भरत नाहर, मोहन लालवानी, पूर्व विधायक हर्षद मेहता, नरेश जसूजा, योगेश लाल, गौतम वाधवानी, हरमिंदर छावड़ा, राहुल बख्तानी सहित अन्य नेता भी उपस्थित रहें ।