फर्द बंटवारा और पटवारी प्रतिवेदन प्राप्ति संबंधी रिपोर्ट तहसीलदार 15 दिनों में भेजें: कलेक्टर

439

धमतरी |फर्द बंटवारा और पटवारी प्रतिवेदन प्राप्त हो गया| इस संबंध में अगले 15 दिनों में तहसीलदार रिपोर्ट दें, यह सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सुनिश्चित करेंगे। कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य ने समय-सीमा की बैठक में इस आदेश को गंभीरता से लेते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं, जिससे राजस्व मामलों को निपटाने में आसानी हो। उन्होंने इस मौके पर सभी अधिकारियों को फाइलों का निपटारा त्वरित गति तथा शासकीय दायित्वों का निर्वहन पूरी गंभीरता से करने कहा है। कलेक्टोरेट सभाकक्ष में सुबह 11 बजे से आहूत इस बैठक में कलेक्टर ने समय सीमा के पत्रों, कलेक्टर जनदर्शन, मुख्यमंत्री जनदर्शन और शासन से मिले पत्रों को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए उनका निराकरण करने पर जोर दिया। बैठक में कलेक्टर ने बताया कि आगामी गुरुवार को शाम पांच बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए गोधन न्याय योजना, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास और राजस्व सम्बन्धी मामलों की समीक्षा करेंगे। अतः सम्बन्धित अधिकारी इसकी तैयारी कर लें। उन्होंने सभी नगरीय निकायों में साफ सफाई, गुणवत्तायुक्त पेयजल, बिजली के सुचारू  संचालन की व्यवस्था बनाए रखने पर बल दिया। साथ ही आगामी खरीफ सीजन में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी सुचारू रूप से करने की तैयारी कर लेने खाद्य और सम्बन्धित विभागों को निर्देशित किया। इसके तहत समय पर किसान पंजीयन, ड्रेनेज व्यवस्था, कैप कवर, संग्रहण केन्द्र में आवश्यक व्यवस्था इत्यादि सम्मिलित है। कलेक्टर ने बैठक में निर्देशित किया कि दूसरे चरण में स्वीकृत 151 धान चबूतरा निर्माण कार्य 10 नवंबर तक हर हाल में पूरा कर लिया जाए। उन्होंने सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत को इसे व्यक्तिगत रुचि लेकर पूरा करने निर्देशित किया है। कलेक्टर ने इसके अलावा गोधन न्याय योजना में समय पर गोबर खरीदी और भुगतान सुनिश्चित करने, तैयार वर्मी का सही तरीके से भंडारण और वर्मी बेड की जहां अधिक जरूरत है, उसे प्राथमिकता से बनाने कहा। बैठक में उन्होंने समय सीमा के पत्रों की समीक्षा की और विभागीय अधिकारियों को इन्हे जल्द निपटाने कहा। साथ ही उन्होंने सभी को समझाइश दी कि कोविड 19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए मास्क अनिवार्य रूप से पहने और लक्षण होने पर तत्काल जांच कराएं। इस अवसर पर अपर कलेक्टर दिलीप अग्रवाल सहित जिला स्तरीय अधिकारी तथा वीडियो कॉन्फ्रेंस से सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और ब्लॉक स्तरीय अधिकारी बैठक से जुड़े रहे।