नगरी के शासकीय कार्यालयों का कलेक्टर एल्मा ने किया सघन निरीक्षण

106

जनपद पंचायत, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और तहसील कार्यालय के बंद कमरों के ताले खुलवाकर चप्पे-चप्पे का लिया जायजा

धमतरी | कलेक्टर पी.एस.एल्मा ने  सुबह विकासखण्ड मुख्यालय नगरी के विभिन्न कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने जनपद पंचायत कार्यालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सह मातृ-शिशु स्वास्थ्य केन्द्र, एसडीएम व तहसील कार्यालयों सहित स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल योजना के तहत विकासखंड स्तर पर प्रस्तावित उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल का सघन निरीक्षण कर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। इन कार्यालयों में अनुपयोगी उपकरणों, सामग्रियों तथा अभिलेखों का अपलेखन तथा कक्षों की सफाई कर उन्हें उपयोग में लाने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया।


कलेक्टर एल्मा दोपहर 12 बजे जनपद पंचायत कार्यालय पहुंचे, जहां पर विभिन्न कमरों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने बंद पड़े वॉटर कूलर की मरम्मत करवाकर उसे पुनः प्रारंभ कराने के निर्देश दिए। कमरे के कोने में काफी दिनों से रखी हुई प्रचार सामग्रियों को तत्काल ग्राम पंचायतों में वितरित कराने के निर्देश मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत श्री पी आर साहू को दिए। इसके अलावा कार्यालय की विभिन्न शाखाओं में अव्यवस्थित ढंग से रखे सामानों को व्यवस्थित कराने व टूटे-फूटे फर्नीचर, आलमारी तथा कम्प्यूटर उपकरणों व कालातीत अभिलेखों का अपलेखन कर साफ-सफाई कराने और नस्तियों का अद्यतीकरण करने के लिए भी निर्देशित किया। इस दौरान उन्होंने जनपद पंचायत कार्यालय की मनरेगा शाखा, श्रम शाखा, प्रधानमंत्री आवास शाखा सहित नवीन जनपद पंचायत भवन में स्थित परियोजना प्रशासकीय कार्यालय का सघन निरीक्षण किया।


इसके उपरांत वे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक मुआयना किया। यहां पर उन्होंने स्वास्थ्य कर्मियों से ओपीडी में रोजाना आने वाले मरीजों की औसतन संख्या की जानकारी ली। इस दौरान कलेक्टर ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्थित दवा वितरण कक्ष, बीएनसीयू, पोषण पुनर्वास केन्द्र, पैथोलॉजी लैब, अंतःरोगी कक्ष, बाह्य रोगी कक्ष, ड्रेसिंग रूम, स्टाफ रूम, वेटिंग हाल, मिनी ओटी, भण्डार कक्ष, उपकरण कक्ष सहित विभिन्न वार्डों का सघन निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने खराब एवं अनुपयोगी पड़े स्वास्थ्य उपकरणों का अपलेखन कर उसी राशि से नए और आवश्यक उपकरण खरीदने के लिए बीएमओ को निर्देशित किया। साफ सफाई और बायो मेडिकल वेस्ट के बारे में पूछे जाने पर बीएमओ ने बताया कि सीएचसी नगरी में मेडिकल वेस्ट का प्रबंधन और निष्पादन डीप पिट व शार्प पिट के जरिए किया जाता है तथा साफ सफाई का काम प्लेसमेंट एजेंसी के द्वारा कांट्रैक्ट बेसिस पर किया जाता है। कलेक्टर ने कहा कि वह हर सप्ताह सीएचसी का दौरा कर दिए गए निर्देशों पर अमल की समीक्षा करेंगे।


इसके बाद उन्होंने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और तहसील कार्यालय का निरीक्षण किया। इन कार्यालयों में स्वच्छता को देखकर कलेक्टर ने संतुष्टि जाहिर की। इस दौरान उन्होंने कोर्ट रूम, रीडर कक्ष, नाज़ीरात शाखा सहित अभिलेख कक्ष व शौचालयों का भी जायजा लिया। साथ ही तहसील कोर्ट में बैठकर राजस्व अभिलेखों व नस्तियों का निरीक्षण कर दो साल और उससे अधिक समय से लंबित प्रकरणों का गुणवत्तापूर्ण निराकरण कर उन्हें नस्तीबद्ध करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर एसडीएम नगरी श्री कुर्रे, तहसीलदार सहित राजस्व विभाग के कर्मचारी मौजूद थे।
इसके उपरांत स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट इंग्लिश मीडियम स्कूल योजना के तहत नगरी के श्रृंगि ऋषि शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परिसर में प्रस्तावित अंग्रेजी माध्यम स्कूल का स्थल निरीक्षण कलेक्टर ने किया। उक्त विद्यालय का उन्नयन कर इंग्लिश मीडियम स्कूल का संचालन किया जाएगा। उन्होंने कमरों का उन्नयन सहित प्रयोगशाला, ग्रंथालय, स्टाफ रूम, शौचालय, कंप्यूटर कक्ष की विभिन्न संरचनाओं का नजरी नक्शा का अवलोकन कर गुणवत्तापूर्ण निर्माण के लिए लोक निर्माण विभाग के अनुविभागीय अधिकारी को निर्देशित किया।