धमतरी सराफा एसोसिएशन का सराहनीय कदम , एक सप्ताह का ऐच्छिक लॉकडाउन

1041

धमतरी | वर्तमान परिदृश्य में पूरे विश्व में कोविड 19 नामक वायरस का आतंक सिर चढ़कर बोल रहा है | छत्तीसगढ़ प्रदेश भी इसकी गिरफ्त में आ चुका है । पहले प्रदेश इस बीमारी के बचाव के मामले में पूरे भारत मे अग्रणी था , लेकिन  यहा  भी कोरोना की रफ़्तार  तेजी से  बढ़  रही है | धमतरी में विगत कई दिनों से संक्रमण में बेतहाशा वृद्धि हो रही है जिसकी वजह से मौते भी हो रही है | हर जगह इतनी दहशत है कि अब यह भी सोचना पड़ता है कि कॅरोना मरीज का इलाज के लिए अस्पतालों में पर्याप्त सुविधाएँ भी अब कम होने लगी है चूंकि इस संक्रमण की अभी तक कोई वेक्सीन नही आई है , इसलिए इसके बचाव के लिए सामाजिक दूरी बेहद जरूरी है |

धमतरी सराफा (सोना-चाँदी) एसोसिएशन के शिशिर सेठिया (अध्यक्ष), महेश सोनी (सचिव) , राजू बछावत (कोषाध्यक्ष) एवं वरिष्ठ मार्गदर्शक निर्मल बरड़िया , हेमू छाजेड़ , रमेश लुंकड , विनय पारख , प्रकाश लुंकड , प्रेमचंद राखेचा ,झूमरलाल बरड़िया , ज्ञानचंद लुनावत , भुरचंद चंद डागा , भूषण सेठिया , मूलचंद लुनिया ,नरेंद्र देवांगन , अभय बरड़िया ,पप्पू गोलछा धनराज लुनिया , भगेश बैद , राजू बुरड़ ,प्रकाश सोनी ,प्रवीण संकलेचा सहित संगठन के सभी सदस्यों ने करोना संक्रमण  के चेन को तोड़ने के लिए सर्वसम्मति से पूरे धमतरी में एक सप्ताह का सम्पूर्ण लॉकडाउन का निर्णय लिया। साथ ही यह उम्मीद जताई कि इस कदम से नगर में जागरूकता जाए और हर कोई खुद का और अपने परिवार का पूर्ण खयाल रखें।