टीकाकरण जागरूकता रथ को कलेक्टर ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया मगरलोड के प्रत्येक ग्राम में जाकर टीकाकरण के लिए किया जाएगा जागरूक

69

धमतरी | जिले के मगरलोड विकासखण्ड में टीकाकरण के प्रति जागरूकता लाने के लिए आज दोपहर कलेक्टर  जयप्रकाश मौर्य एवं जिला पंचायत के सी.ई.ओ. मयंक चतुर्वेदी ने मगरलोड के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में टीकाकरण जागरूकता रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। उक्त रथ मगरलोड ब्लाॅक की 66 ग्राम पंचायतों के 113 ग्रामों में जाकर ग्रामीणों को शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित एवं प्रोत्साहित करेगा तथा आमजनों में फैली हुई भ्रांतियों को दूर करने का प्रयास करेगा। इस अवसर पर कलेक्टर ने स्वास्थ्य केन्द्र में टीकाकरण कराने आए बुजुर्गों एवं ग्रामीणों से चर्चा कर समझाइश दी कि कोविड-19 से खुद को व परिवार को सुरक्षित रखने का यही एकमात्र विकल्प है। अन्य टीकों की तरह यह भी एक सामान्य टीका है, इसे लगवाने से किसी प्रकार की परेशानी नहीं होती। साथ ही उन्होंने टीका लगवाने आए ग्रामीणों को वापस जाकर अपना अनुभव साझा करने तथा सकारात्मक ढंग से प्रोत्साहित करने की बात कही। इस अवसर पर एसडीएम कुरूद श्री सुनील कुमार शर्मा, जनपद पंचायत की सी.ई.ओ. सुश्री अर्पिता पाठक तथा बीएमओ डाॅ. शारदा ठाकुर उपस्थित थीं।

कुरूद अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व)  शर्मा ने बताया कि कलेक्टर के निर्देशानुसार आईईसी मद से उक्त रथ का भ्रमण मगरलोड विकासखण्ड के सभी ग्रामों में कराकर लोगों को कोविड से बचने के लिए 45 साल से ऊपर आयु वाले शत-प्रतिशत लोगों का टीकाकरण कराने के संबंध में लाउड स्पीकर के जरिए जागरूकता संदेश प्रसारित कराया जा रहा है, साथ ही ग्रामों में कोटवारों के माध्यम से मुनादी भी कराई जा रही है, जिसके सकारात्मक परिणाम परिलक्षित हो रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि यह प्रदेश का पहला विकासखण्ड है जहां कोविड टीकाकरण जागरूकता रथ का आयोजन किया जा रहा है। खास तौर पर लोगों में टीकाकरण को लेकर लोगों में व्याप्त भ्रांतियों को दूर करने पंचायत, राजस्व एवं शिक्षा विभाग के मैदानी अमले को लगाकर आमजनों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है जिससे लक्षित शत-प्रतिशत की वैक्सिनेशन कराई जा सके।
मंदरौद में पीडीएस का निर्बाध वितरण सुनिश्चित करने कलेक्टर ने दिए निर्देश:- कलेक्टर  मौर्य ने आज कुरूद-मगरलोड प्रवास के दौरान ग्राम मंदरौद पहुंचे, जहां पर कोविड-19 के धनात्मक प्रकरणों में वृृद्धि होने के कारण वहां कंटेनमेंट जोन की घोषणा की गई है। इस दौरान कलेक्टर ने एसडीएम को निर्देशित किया कि कंटेनमेंट जोन के दायरे में निवासरत ऐसे सभी व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती कराएं, जो विभिन्न गम्भीर बीमारियों से ग्रसित हैं। साथ ही जो लोग होम आइसोलेटेड हैं, उनका प्रतिदिन स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा तथा उनकी काउंसिलिंग भी की जाएगी। कलेक्टर ने यह भी निर्देशित किया कि कंटेनमेंट जोन के दायरे में आने वाले लोगों को खाद्यान्न का वितरण आसानी से हो और इसके लिए सरपंच-सचिव को दायित्व सौंपंे।