झूठे FIR की तर्ज पर कांग्रेस सरकार की तानाशाही के खिलाफ भाजपा के नेतृत्व में धरना प्रदर्शन पर बैठे प्रीतेश गांधी

204

धमतरी । कांग्रेस सरकार द्वारा भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर झूठे मुकदमे दर्ज कर व टूलकिट( गुप्त दस्तावेज) बना कर देश को बदनाम करने की साजिश रची गई एवं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आदरणीय डॉ. रमन सिंह जी और राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री संबित पात्रा जी के खिलाफ फर्जी FIR दर्ज कराई गई. अभिव्यक्ति की हत्यारी कांग्रेस द्वारा देश और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी समेत समस्त भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को बदनाम करने की साजिश अत्यंत घृणित है.

भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में 24 मई 2021 सोमवार को धमतरी के थाना अर्जुनी के सामने धमतरी विधायक श्रीमती रंजना डीपेंद्र साहू एवं प्रीतेश गांधी प्रदेश विशेष आमंत्रित सदस्य भाजपा समेत अन्य कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस सरकार द्वारा झूठे मुकदमा दर्ज कराने के खिलाफ विरोध जताते हुए धरना प्रदर्शन किया.

प्रीतेश गांधी प्रदेश विशेष आमंत्रित सदस्य भाजपा ने कहा कि कांग्रेस सरकार की तानाशाही नहीं चलेगी. लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की आजादी सभी को है, सच बोलने वालों पर FIR कर कांग्रेस सरकार ने जनता को अपना असली चेहरा दिखा दिया. हम सभी सच का साथ देंगे, भूपेश सरकार कितनों को जेल में बंद करेगी.  आगे प्रीतेश गांधी ने कहा कि भारत हमारी शान है और कांग्रेस पार्टी द्वारा अपने ही देश को बदनाम करने के लिए टूलकिट तैयार कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोशल मीडिया द्वारा गलत प्रचार करना और देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की छवि को धूमिल करने की साजिश रचना अत्यंत शर्मनाक है. देश कोरोना महामारी से जुंझ रहा है ऐसे बुरे वक्त में देश का साथ देने की बजाय कांग्रेस पार्टी द्वारा अपनी नैतिकता को ताक पर रख कर देश के खिलाफ कूटनीति तैयार करना बहुत ही असंवेदनशील है. आज इस धरना प्रदर्शन के द्वारा मैं कांग्रेस सरकार की तानाशाही का विरोध करता हूं और देश व भारतीय को बदनाम करने के लिए किए गए झूठे प्रचार की मैं घोर निंदा करता हूं. धमतरी, थाना अर्जुनी के सामने कांग्रेस द्वारा डॉ. रमन सिंह एवं संबित पात्रा पर झूठे मुकदमे के खिलाफ हुए धरना प्रदर्शन में श्रीमती रंजना डीपेंद्र साहू एवं प्रीतेश गांधी के साथ मुख्य रूप से श्री मुरारी यदु जी, श्री विजय मोटवानी जी, श्री हेमन्त माला जी और श्री निर्मल बड़रिया उपस्थित रहें.