जनहित कार्य के लिए हमेशा लड़ती रहूंगी, चाहे जेल जाना क्यों न पड़े : अनिता  ध्रुव 

403

धमतरी | जिला पंचायत सदस्य व जन आन्दोलन महिला संघर्ष समिति की अध्यक्ष अनिता ध्रुव ने कहा कि मैंने किसी संघ या समूह मात्र की बैठक नहीं रखी थी बल्कि जनसमूह की ज्वलंत समस्या और बुनियादी सुविधाऐं मुहैया कराने के लिए रखी गई थी। बुनियादी सुविधाओं की मांग करना, लोगों को रोजगार का लाभ दिलाना, शासन- प्रशासन द्वारा चुनाव के समय किये गये वादे  को याद  दिलाना हम सभी का जन्मसिद्ध अधिकार है। जहां तक महानदी महिला संघ की बात और टिप्पणी का मामला है । बता दूं कि उप तहसील कुकरेल क्षेत्र की हजारों महिलाऐं महानदी संघ से जुड़ी हुई हैं|

वे स्वयं भी विगत पांच वर्षों से जुड़ी हुई है। आन्दोलन की घोषणा व चक्काजाम व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए नहीं है बल्कि जनता की बुनियादी लाभ के लिए होगा। मैं किसी समूह की सदस्य मात्र ही नही बल्कि जनता द्वारा चुनी हुई जनप्रतिनिधि हूं | इसलिए जनता के हित के लिए  लड़ती रहूंगी। उन्होंनेआगे कहा कि जनता द्वारा किये जा रहे आन्दोलन पर टिप्पणी करने वाले याद करें कि प्रदेश के मुखिया ने गद्दी में बैठने के पहले प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी के लिए हाथ में गंगाजल लेकर कसम खाई थी। आज क्या स्थिति है | सभी जानते है | जो लोग जनहित कार्य का विरोध करते है, उनकी जन आन्दोलन महिला संघर्ष समिति निंदा करती है|किसी के कहने से जनआन्दोलन नहीं रूक सकता। चाहे मुझे जनहित कार्य के लिए जेल जाना क्यो न पड़े। जनआन्दोलन महिला संघर्ष समिति के सदस्य केशर बाई साहू, केकती बाई कुंजाम, धनेशवरी नेताम, बिंदेशवरी मंडावी सचिव बेदबती नेताम, सह सचिव लक्ष्मी बाई साहू, कोषाध्यक्ष माधुरी दीवान , लता बाई साहू, अमरीका बाई, पदमा दीवान, गायत्री बाई ,नेमीन बाई ध्रुव, सरोज बाई सिन्हा, धनेश्वरी ध्रुव, इतेशवरी ध्रुव ने  कहा  कि यह आन्दोलन तब तक जारी रहेगी जब तक  मांग पूरी न हो जाए | यहां की जनता विकास चाहती है और दस सूत्रीय मांग को पूर्ण समर्थन देते हुए कदम से कदम मिलाकर व सहयोग प्रदान कर रही हैं।