गोधन न्याय योजना से आई खुशियाँ, चरवाहा ने गोबर बेचकर खरीदी मोटर सायकल  

118

बेमेतरा|  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा शुरू की गई गोधन न्याय योजना गांव के गोबर संग्राहकों  के लिए खुशिया लेकर आई है। जिस गोबर को पहले यू ही कचरे के ढेर के रूप में फेक दिया जाता था या उसके कुछ भाग से उपले, कण्डे बना लिये जाते थे, इसी गोबर को बेच कर ग्रामीण पशु पालक लाभ उठा रहे है। इस योजना से ग्रामो एवं शहरो के गोबर संग्रहको को 2 रू. प्रति किलो की दर से गोबर बेचकर लाभ कमाने का अवसर प्राप्त हुआ है। बेमेतरा जिले के बेरला विकासखण्ड में वर्तमान में 11 ग्राम पंचायतों में गौठानों के माध्यम से गोबर खरीदी की जा रही है। गांव के ग्रामीण बढ़-चढ़ कर गोबर बेचने और लाभ कमाने में भागीदार बन रहे है| 

इसी कड़ी में बेरला विकासखण्ड के ग्राम पंचायत भाड़ (रामपुर) में निवास करने वाले रमेश कुमार यादव पिता नंदकुमार यादव वार्ड क्रं. 10 जो कि अपने ग्राम पंचायत में चरवाहे का कार्य करते है| इनके द्वारा अपने 8 मवेशियो के साथ-साथ ग्राम पंचायत के लगभग 40 घरो के 1000 से अधिक मवेशियो को चराने का कार्य किया जाता है। अपनी बरदी के मवेशियो को चराकर अपने ग्राम पंचायत के निर्माण हुए गौठान में रखते है जिनके गोबर को बेचकर रमेश कुमार यादव को 55000 हजार से अधिक की आमदनी प्राप्त हुई है जिससे इन्होने मोटर सायकल खरीदी है। जिससे वह बहुत प्रसन्न है। वे प्रतिदिन गौठान के गोबर खरीदी केन्द्र में गोबर विक्रय करते है एवं समय-समय पर गोबर बिक्री की राशि उनके बैक खाते में शासन द्वारा प्रदान किया जा रहा है। इससे उन्हे अतिरिक्त आय हो रही है। उनका कहना है कि मुख्यमंत्री ने यह बहुत अच्छी योजना चलाई है, जिससे हमे लाभ हो रहा है इसके लिए हम मुख्यमंत्री जी का धन्यवाद करते है।

tushar