खदेड़ने के बाद भी लौट आता है तेंदुआ, मवेशियों पर हमला कर बच्चों को सिखा रहे शिकार करने के गुर

198

नगरी | भीतररास में तेंदुए के आतंक से ग्रामीण दहशत में है | शाम होते ही पहाड़ से नीचे उतर आता है | गली, चौराहे पर बैठे गांववासी आसानी से तेंदुआ को देख रहे हैं। कुछ दिन पहले पहले भीतररास में टावर के पास खेत में  तेंदुआ ने पालतू मवेशी को हमला कर मार डाला| सुबह होने की वजह से तेंदुआ मवेशी को नही ले जा पाय | फिर शाम होते ही पहाड़ से नीचे उतारकर गली से होते हुए मवेशी के पास गया | ग्रामीणों ने टार्च, लाइट, डंडा की मदद से तेंदुआ को खदेड़ा |

बीती रात्रि  करीबन 8 बजे तेंदुआ ने निकेश बिसेन की बाड़ी से होकर बाजू के घर मे घुसने की कोशिश की| उस दौरान  लोग आग ताप रहे थे |नजर पड़ने से वह भाग निकला| ज्ञात हो कि शाम होते ही तेंदुआ का खौफ देखा जा रहा है | वह गली में बेख़ौफ़ घूम रहा है जिससे लोग डरे सहमे हुए हैं। ग्रमीणों का कहना है कि फारेस्ट विभाग तेंदुआ को पकड़ने की कार्यवाही जल्द से जल्द करे | अन्यथा आगे बड़ी घटना भी घट सकती है| इस संबंध में सिहावा फॉरेस्ट के कर्मचारी ने बताया कि कि तेंदुआ के साथ उनके बच्चे हैं जिसे वह शिकार करना सिखा रहे हैं और मवेशियों पर हमला कर रहे हैं|