कोरोना महामारी में आंगनबाड़ी केंद्र खोलना दुर्भाग्यपूर्ण निर्णय : रंजना 

464

 विधायक ने पुनर्विचार करने महिला बाल विकास मंत्री को लिखा पत्र

छत्तीसगढ़ जुझारू आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका कल्याण संघ ने सुनाई विधायक को व्यथा

धमतरी | जब पूरा प्रदेश कोरोना महामारी से जूझ रहा है, ऐसे समय पर शासन द्वारा आंगनबाड़ी खोलने का निर्णय लेना दुर्भाग्यपूर्ण है। वर्तमान परिस्थिति में प्रदेश में कोविड-19 महामारी पूरी तरह से फैल गई है, लोग लगातार संक्रमित हो रहे हैं| डब्ल्यूएचओ का मानना है कि 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों और गर्भवती महिलाओं को संक्रमण होने का खतरा ज्यादा होता है जिसके कारण घर से बाहर निकलने एवं सावधानियां बरतने की हिदायत दी गई है।

विधायक रंजना साहू ने कहा कि ऐसी परिस्थिति में प्रदेश सरकार द्वारा 14 सितंबर को आंगनबाड़ी केंद्र खोलने का निर्णय सर्वथा अनुचित है। आंगनबाड़ी केंद्र में जगह एवं सुविधाओं का अभाव रहता है, जहां पर फिजिकल डिस्टेंस का पालन करना मुश्किल है| अगर आंगनबाड़ी केंद्र का संचालन होता है तो बच्चों और गर्भवती महिला में संक्रमण का खतरा  बढ़ जाएगा। इसी संदर्भ में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका कल्याण संघ ने विधायक से मुलाकात कर अपनी व्यथा सुनाई। जिस पर उन्होंने तत्काल महिला बाल विकास मंत्री को पत्र के माध्यम से बढ़ते कोरोना महामारी को दृष्टिगत रखते हुए अभी वर्तमान में आंगनबाड़ी खोलने के संदर्भ में पुनर्विचार करने हेतु निवेदन किया |