कृषि विधयेक बिल से किसानों को होगा लाभ , विपक्ष बरगलाने का काम कर रहा, भूपेश सरकार पूरी  तरह फ़ैल : शिवरतन  शर्मा 

95

धमतरी |  केंद्र सरकार  द्वारा  पारित  कृषि  विधयेक  बिल से किसानों को  लाभ होगा | इस प्रावधान से  किसान अपनी फसल को देश के किसी भी बाजार में बेच सकेंगे | किसानों को बिचौलियों से मुक्ति मिलेगी | लेकिन विपक्ष के लोग  किसानों को गुमराह कर रहे है | नतीजतन किसान आज आन्दोलन पर है | प्रदेश  में  भूपेश  सरकार  पूरी  तरह  फ़ैल हो चुकी  है | जनता से किये एक भी वादे उसने पूरे नही किये |  प्रदेश में विकास का पहिया थम गया है |  उक्त बातें  भाजपा कार्यालय में आयोजित एक पत्रकार वार्ता को  संबोधित करते हुए  प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष व भाटापारा विधायक शिवरतन  शर्मा  ने कही | उन्होंने  किसान आंदोलन  के सन्दर्भ  में  बोलते हुए कहा कि कृषि  विधयेक बिल से किसानों को किसी  प्रकार से कोई  नुकसान नही है | इस बिल से किसानों को ही फायदा होगा | किसान कहीं भी किसी भी कीमत पर अपनी फसल बेचने  के लिए स्वतंत्र होंगे | लेकिन आज देश में  भ्रम फैलाया जा रहा है कि इस विधयेक से किसानो को आर्थिक नुकसान होगा |

मजबूरन किसान आज आन्दोलन  कर रहे है|  उन्होंने आगे कहा  कि कृषि  विधयेक के  मुद्दे को लेकर  किसानों  से  छः  दौर की बात हो चुकी  है | कुछ  मुद्दों पर  संसोधन का प्रस्ताव  दिया  है |  सरकार  चाहती है कि  वार्ता के माध्यम से  किसानों  की समस्या का हल हो | उन्होंने  विपक्ष को आड़े हाथ  लेते हुए कहा कि  वे  लोग  किसानों  को बरगलाने का काम  कर रही है | विपक्ष का कहना है कि इस बिल के आने से किसानों को  मिलने वाला MSP बंद हो जायेगा | जबकि  ऐसा नही है |  उन्होंने आगे कहा कि  इस बिल  से  कृषि भूमि का कोई कॉन्ट्रैक्ट नही होगा | उत्पादन का कॉन्ट्रैक्ट होगा | इस बिल से किसान उन्नत होंगे | उन्होंने आगे कहा कि मोदी सरकर  ने 2020 तक किसानों  की आय दुगुनी करने  की बात कही  है और इसी दिशा में हमारी सरकार काम कर रही  है | किसानों के हित में केंद्र सरकार द्वारा  कई  योजनाये  चला रही है| आज किसानों को  फसल  बीमा , किसान समृध्धि  का लाभ  मिल रहा  है |  

भूपेश सरकार  के कार्यकाल के दो वर्ष  पूर्ण होने पर विधायक शिवरतन शर्मा  ने कहा कि कांग्रेस की सरकार हर मुद्दों पर फ़ैल हुई  है | छत्तीसगढ़ की जनता  की भावना से खिलवाड़ कर रही है|  गिरदावरी के नाम पर किसानों का 20 प्रतिशत रकबा घटा दिया गया है | इससे  किसानो को  आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है |