आदमखोर तेंदुआ हुआ पिंजरे में बंद , सीतानदी अभ्यारण्य क्षेत्र में छोड़ा गया

43

नगरी- मुकुंदपुर व आसपास गांव मेें दहशत फैला रखा आदमखोर तेन्दुआंं आखिरकार पिंजरे में कैद कर लिया गया है। वन विभाग को एक बड़ी सफलता मिली है। खूंखार मादा तेन्दुएं को सीतानदी उदंती टायगर रिजर्व क्षेत्र के वन्यप्राणी सुरक्षित इलाके में छोड़ा गया है।

नगरी वनपरिक्षेत्र अन्तर्गत ग्राम मुकुंदपुर के पहाड़ी मेें एक खूंखार मादा तेन्दुआं ने 8 वर्षीय मासूम आशीष नेताम को अपना शिकार बनाया था जिससे बच्चे का दर्दनाक मौत हो गया था। आदमखोर तेन्दुएं की दहशत व हमले को रोकने डीएफओ सतोविशा समाजदार के दिशा निर्देश पर आईएफएस आलोक वाजपेयी, वन परिक्षेत्राधिकारी जीएस परमार व पूरी टीम सक्रिय हो गया था और पहाड़ी मेें पिंजरा लगाकर तेन्दुएं को कैद करने कोशिश किया जा रहा था। आखिरकार आज 22 मई की अलसुबह खूंखार मादा तेन्दुआं पिंजरे में कैद हो गया।
मामले की जानकारी देते हुए आईएफएस आलोक वाजपेयी ने बताया कि मादा तेन्दुआं की हर मुवमेंट पर कड़़ी निगरानी रखने के साथ ही टीम के द्वारा लगातार गश्त किया जा रहा था।  सुबह लगभग 4 से 4.30 बजे तेन्दुआं पिंजरे में कैद हो गया था जिसे सीतानदी उदंती टाइगर रिजर्व क्षेत्र मेें सुरक्षित ढ़ंग से छोड़ा गया है।