अनजान व्यक्ति को न दें बैंक खाता, एटीएम, पिन, ओटीपी की जानकारी , पुलिस ने साइबर ठगी से बचने दी समझाइश

86

धमतरी | वर्तमान में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष (ऑनलाइन) रूप से ठगी का शिकार आम जनता हो रही है। ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामलों में ठग नए-नए तरीकों से झांसा देकर लोगों का अपना शिकार बना रहे हैं। इन साइबर ठगों से बचने के लिए स्वयं का जागरूक होना अति आवश्यक है। इन्ही ऑनलाइन ठगों से आम जनता को जागरूक करने के उद्देश्य से पुलिस अधीक्षक बी. पी. राजभानु द्वारा सामुदायिक पुलिसिंग के तहत विभिन्न स्थानों पर अंजोर रथ के माध्यम से जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने निर्देशित किया गया।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे के नेतृत्व में अंजोर रथ के द्वारा आम नागरिकों को साइबर, ऑनलाइन ठगी से बचाव के लिए जागरूक करने के उद्देश्य से जन जागरूकता कार्यक्रम शहर के हृदय स्थल मकई चौक से प्रारंभ किया गया। जागरूकता कार्यक्रम के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने उपस्थित आमजनों को ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचने के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि स्वयं की जागरूकता व सुरक्षा ही ऑनलाइन ठगी से बचने का सबसे बड़ा उपाय है। इसलिए किसी भी अनजान व्यक्ति के झांसे में न आवें तथा अपने बैंक खाता, एटीएम, पिन, ओटीपी जैसी गोपनीय जानकारियां किसी के साथ साझा न करें।

इसी क्रम में उप पुलिस अधीक्षक श्रीमती सारिका वैद्य एवं प्रशिक्षु उप पुलिस अधीक्षक सुश्री रागिनी तिवारी द्वारा साइबर क्राइम, ऑनलाइन फ्रॉड जैसे- टावर लगाने के नाम पर ठगी, नौकरी लगाने के नाम पर ठगी, फौजी बनकर ठगी, इनाम जीतने या लॉटरी के नाम पर ठगी, इंस्योरेंस कंपनी के नाम पर ठगी, फर्जी फोन कॉल, कम ब्याज में लोन दिलाने के नाम पर ठगी के बारे में बताते हुए फेसबुक मैसेंजर या अन्य मैसेजिंग एप में आए अनजान लिंक को क्लिक नहीं करने तथा सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क व साइबर कैफे से बचने, मोबाइल एप्लीकेशन, वेबसाइट आदि के इस्तेमाल ऑनलाइन करते समय जागरूक होने समझाइश दी गई। साथ ही ऑनलाइन ठगी का शिकार होने की स्थिति में अविलंब अपने बैंक व नजदीकी थाना को सूचित करने समझाइश दी गई। शहर के प्रत्येक वार्ड पार्षदों से मिलकर उनके वार्ड में जन जागरूकता कार्यक्रम के तहत कार्यक्रम आयोजित कर अंजोर रथ के माध्यम से ठगी करने वाले लोगों से सावधान रहने जागरूक किया जाएगा। कार्यक्रम के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे, उप पुलिस अधीक्षक श्रीमती सारिका वैद्य, प्रशिक्षु उप पुलिस अधीक्षक सुश्री रागिनी तिवारी, यातायात प्रभारी श्रीमती सत्यकला रामटेके, महिला सेल प्रभारी श्रीमती रीना कुजुर, सूबेदार रेवती वर्मा एवं यातायात व शक्ति टीम उपस्थित थी |

tushar