संविधान के रूप में बाबा साहेब ने देश को अद्वितीय सौगात दी, जो लोकतंत्र का आधारस्तंभ है

162

धमतरी |भारत रत्न डॉ. भीमराव अंबेडकर की पुण्यतिथि पर जिला कांग्रेस कमेटी धमतरी व नगर पालिक निगम द्वारा श्रद्धा सुमन अर्पित कर उन्हें स्मरण किया गया। भीमराव अंबेडकर बाबा साहब अंबेडकर नाम से लोकप्रिय थे |बाबा साहब अंबेडकर ने 6 दिसंबर 1956 को अंतिम सांस ली थी तबसे उस दिन को महापरिनिर्वाण दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारत रत्न डॉ. भीमराव अंबेडकर की पुण्यतिथि पर कांग्रेसजनों एवं नगर निगम ने अंबेडकर चौक स्थित प्रतिमा स्थल पर पहुं कर अंबेडकर जी की  प्रतिमा में माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया |

इस दौरान कांग्रेसियों ने भीमराव अंबेडकर के राष्ट्र निर्माण में दिए गए उनके योगदान पर प्रकाश डाला | जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शरद लोहाना ने कहा कि भारतीय संविधान के प्रमुख निर्माताओं में से एक डॉ अम्बेडकर का जन्म दिल्ली में 1956 में हुआ था। सामाजिक न्याय के लिए अपना जीवन समर्पित कर देने वाले बाबा साहेब को उनके महापरिनिर्वाण दिवस पर कोटि-कोटि नमन किया । उन्होंने संविधान के रूप में देश को अद्वितीय सौगात दी, जो हमारे लोकतंत्र का आधारस्तंभ है। कृतज्ञ राष्ट्र सदैव उनका ऋणी रहेगा। महापौर देवांगन ने कहा कि बाबा साहेब आंबेडकर ने हमें इतना व्यापक और विस्तृत संविधान दिया, वह आज भी टाइम मैंनेजमेंट और प्रोडेक्टिवटी का एक उदाहरण है। वह हमें भी अपने दायित्तवों को रिकॉर्ड समय में पूरा करने के लिए प्रेरित करता है। लोकतंत्र बाबा साहेब के स्वभाव में रचा-बसा था और वह कहते थे कि भारत के लोकतांत्रिक मूल्य कहीं बाहर से नहीं आए, गणतंत्र क्या होता है और संसदीय व्यवस्था क्या होती है यह भारत के लिए कोई नई बात नहीं है। संविधान सभा में उन्होंने एक भावुक अपील की थी कि इतने संघर्ष के बाद मिली स्वतंत्रता की रक्षा हमें अपने खून की आखिरी बूंद तक करनी है। वह यह भी कहते थे कि हम भारतीय भले ही अलग-अलग पृष्ठभूमि से हो लेकिन हमें सभी चीजों से ऊपर देशहित को रखना है।

इस दौरान जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शरद लोहाना, महापौर विजय देवांगन, पूर्व विधायक हर्षद मेहता, विजय प्रकाश जैन, सूर्याराव पवार, विजय गोलछा, आलोक जाधव, शरीफ रोकड़िया, राकेश दीवान, सतीश चंद्र त्रिपाठी, सलीम रोकड़िया, देवेंद्र अजमानी, अशरफ रोकड़िया, अवेश हाशमी, रामनाथ यादव, बसन्त सिन्हा, इतवारी ठाकुर, दिनेश रामटेके, मोहित देवांगन, रमेश देवांगन , कुशल देवांगन, रूपेश राजपूत, गौरीशंकर पांडे, प्रकाश पवार, सोमेश मेश्राम, आकाश गोलछा, तारिक रज़ा कादरी, रमेश पांडेय, प्रीतम सिन्हा, विशु देवांगन, संकेत गुप्ता, अम्बर चन्द्राकर, तरुण रॉय, भागी निषाद, बसंत सिन्हा, वसीम खिलची, सलीम तिगाला, संदीप ध्रुव, राजेन्द्र यादव सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता एवं निगम के कर्मचारी उपस्थित थे |