लोमड़ी की चालाकी, पकड़े जाने पर किया मरने का नाटक, लोगों के जाते ही भागी

165

महाराष्ट्र | हम बचपन से ही सुनते आए हैं कि जानवरों में लोमड़ी सबसे ज्यादा चालाक होती है और मौके के हिसाब से अपना व्यवहार बदल लेती है. एक बार फिर ऐसा ही कुछ देखने को मिला महाराष्ट्र के सिन्नर में जहां पिंजड़े में फंसने के बाद लोमड़ी ने फौरन मरे होने का नाटक कर लिया और जैसे ही लोग वहां से गए मौके से भाग गई. सिन्नर तालुका के उजनी गांव में तेंदुए को पकड़ने के लिए ग्रामीणों ने पिंजड़ा लगा रखा था लेकिन उसमें गलती से एक लोमड़ी आ फंसी. लोमड़ी के फंसने के बाद लोगों ने चारों तरफ से पिंजड़े को घेर लिया.

यह देखते ही जान बचाने के लिए लोमड़ी ने लेटकर फौरन मरने का नाटक शुरू कर दिया यह देखकर लोगों को लगा कि लोमड़ी की पिंजड़े में ही मौत हो गई है. इस दौरान लोमड़ी ऐसे पड़ी रही जैसे सच में उसकी जान जा चुकी है. कुछ देर ये नाटक देखने के बाद लोग उसे मरा हुआ समझकर वहीं छोड़कर चले गए. पिंजड़े के पास से जैसे ही भीड़ गई लोमड़ी फौरन वहां से भाग निकली. ये देखकर लोगों को अपनी गलती का एहसास हुआ कि जिसे वो मरा हुआ मान चुके थे असल में वो लोमड़ी नाटक कर रही थी. बता दें कि उजनी गांव में लोग एक तेंदुए से परेशान थे और उसे पकड़ने के लिए पिंजड़ा लगाया था लेकिन उसमें एक लोमड़ी आकर फंस गई. लोगों ने वन विभाग की टीम को मौके पर बुलाया. लोमड़ी को जगाने के लिए आवाज लगाई गई, उसपर पानी फेंका गया लेकिन लोमड़ी हिली तक नहीं लेकिन जैसे ही लोग वहां से गए तुरंत वो फरार हो गई