तेंदुआ ने किया बछड़े का शिकार, शावक के साथ विचरण कर रही मादा तेंदुआ से ग्रामीणों में दहशत

47

नगरी। ग्राम छिपली में तेंदुआ विगत एक सप्ताह से आतंक मचा रहा है। गुरुवार की रात को भगवानदीन नवरंग के एक साल के बछड़े को तेंदुआ ने नहर नाली के पास अपना शिकार बना लिया और बस्ती से घसीटते हुए 200 मीटर पर छोड़ दिया। सबसे पहले चरवाहा गोपाल यादव ने इसे देखा फिर ग्रामीणों को इसकी सूचना दी। सुबह ग्रामीण नंदलाल कमार, लखमीनाथ बंजारे, बीरसिंग बंजारे, लोकेश्वर यादव, दादू साहू, मोहित साहू, दानेश्वर साहू, तुलसी यादव, आशीष  नेताम, तामेश्वर  सोरी, तरुण ध्रुव, अंजोरी नेताम जब घटना स्थल पहुचे तो बछड़े का शव नदारत मिला |

आसपास जब छानबीन की गई तो बछड़े का शव 100 मीटर की दूरी पर क्षत विक्षत हालत में मिला| दिनदहाड़े तेंदुए द्वारा की जा रही घटना से ग्रामीण ख़ौफजदा है क्योंकि नहरपारा छिपली से जंगल बिल्कुल सटा हुआ है और लगातार लोगो का आना-जाना लगा रहता है| कुछ लोगो का खेत भी इसी तरफ पड़ता है| जंगल से लगा क्रिकेट मैदान भी है जहाँ छोटे बच्चे खेलते रहते है। तेंदुआ का आतंक अब ग्रामीणों में चिंता का विषय बन गया है। छिपली के ग्रामीणों ने वन विभाग से इस समस्या का निदान जल्द करने  की मांग की है | प्रत्यक्षदर्शी छिपली निवासी दुलम पटेल  ने बताया कि  तेंदुआ मादा है और उसके दो शावक भी है । ऐसा माना जाता है कि शावक सहित मादा तेंदुआ ज्यादा खतरनाक होती है |

tushar