जिला प्रशासन की समझाइश के बाद आनाकानी करने वाले 12 ग्रामीणों ने कराई कोरोना जांच

24

कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करने रेडक्रास ने नुक्कड़ नाटक आयोजित किया 

धमतरी | कोरोना संक्रमण की वैश्विक महामारी से विश्व स्तर पर प्रभावित है | कोरोना संक्रमण की महामारी के नियंत्रण हेतु जिला स्तर से लगातार अनेक प्रयास किए जा रहे हैं | धमतरी जिले  में कलेक्टर एवं अध्यक्ष इंडियन रेडक्रास सोसायटी जयप्रकाश मौर्य के आदेशानुसार सीईओ जिला पंचायत धमतरी नम्रता गाँधी, सीएमएचओ डॉ डी.के. तुर्रे के  मार्गदर्शन मे ग्रामीण क्षेत्र में सीईओ जनपद पंचायत धमतरी में अमित दुबे, जिला संगठक रेडक्रास प्रदीप कुमार साहू, काउन्सलर आकाशगिरी गोस्वामी , खोमन साहू, अभिषेक दुबे, रेडक्रास वालेंटियर्स डिम्पल, मोनिका, यामिनी बिहान जनपद के सदस्य व ग्राम पंचायत सेहराड़बरी के सरपंच किशन नेताम, उपसरपंच हेमन्त साहू, पंच रूखमणी साहू, नूतन नेताम, कांति कुंजाम, दूरपद बांडे,  सकून मानिकपुरी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका  अनूपा साहू. लक्ष्मी साहू, रंजीता ध्रुव, पंचायत सचिव तामेश्वर सेन की टीम ने घर-घर पहुँचकर  कोरोना की जांच की |

कोविड-19 लक्षण संदेहास्पद पाए जाने वाले 12 लोग कोरोना टेस्ट कराने से मना कर दिए| जिला प्रशासन की टीम द्वारा संक्रमण के प्रसार श्रृंखला को तोड़ने के लिए जागरूक करने समुदाय स्तर पर सर्वे  कराया जा रहा है |लक्षणात्मक मरीजों की पहचान कर उनकी कोविड-19 लक्षण होने पर जांच उपरांत कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर आइसोलेट एवं उपचार  किया जा रहा है | शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर भ्रमण कर कोरोना वायरस सामुदायिक सर्वे अभियान 5 अक्टूबर से 31 दिसम्बर 2020 तक चलाया जा रहा है |  जिले के अंतर्गत शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रो के सभी परिवारों का पूर्ण आच्छादन किये जाने के साथ मॉनिटरिंग व रिपोर्टिंग का कार्य भी  किया जा रहा है । कोविड-19 के संक्रमण की  प्रसार श्रृंखला को तोड़ने के लिए  किसी प्रकार  के लक्षण पाए जाते है तो घर पहुँच रहे सर्वे टीम को भयमुक्त होकर  सही जानकारी  देने की बात कह रहे है ।

सीईओ जिला पंचायत धमतरी नम्रता गाँधी के निर्देश पर  जनपद सीईओ अमित दुबे, रेडक्रास जिला सँगठक प्रदीप कुमार साहू के नुक्कड़ नाटक दल ने गांव में पहुँचकर उन 12 लोगों को समझाया| नुक्कड़ नाटक का प्रदर्शन भी किया गया | कड़ी मशक्कत करने के बाद सभी ने कोविड 19 का टेस्ट कराया |  रेडक्रास की टीम ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से  बताया कि  60 साल से अधिक आयु वर्ग के व्यक्ति को अन्य बीमारी जैसे किडनी, लिवर, हार्टअटैक, दमा, केंसर, डायबिटीज से ग्रसित होने पर समय में  ईलाज व मेडिसीन लेना जरुरी है | इलाज के अभाव में मृत्यु की सौ प्रतिशत संभावना बढ़ जाती है| कुछ लोग समझाईस के बाद भी कोरोना टेस्ट नही करा रहे है उनके घरों में कोरोना पॉजीटिव मानते हुए उनके घरों में लाल स्टीकर चस्पा कर 14 दिन का होम आइसोलेशन किया जा रहा है  ताकि इनके घर के सदस्यो से किसी अन्य व्यक्ति सम्पर्क में न आये । होम आइसोलेशन के दौरान घर से बाहर निकलने पर कानूनी कार्यवाही भी की जा सकती है ।

tushar