जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं, अधिकारी- कर्मचारियों ने ली शपथ

96

धमतरी | कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगाये गये लाॅकडाउन से इन दिनों देश की अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है। भारत सरकार त्यौहारों के आगमन एवं शरद ऋतु (ठंड के मौसम) के मद्देनजर वैश्विक महामारी कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को बढ़ने से रोकने के लिए जन आन्दोलन की शुरूआत की गई है। जन आन्दोलन का मुख्य उद्देश्य है ‘‘जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं’’| कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य के मार्गदर्शन एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नम्रता गांधी निर्देशन में जिला पंचायत के सभाकक्ष में समस्त अधिकारी, कर्मचारी की उपस्थिति में ’’सही ढंग से मास्क पहनने, नियमित रूप से हाथों की अच्छे से धुलाई और दो गज की शारीरिक दूरी’’ बनाये रखने की शपथ ली गई । पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की पहल से महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत विभिन्न गतिविधियों के लिए अपनायी गई है। इन गतिविधियों को सोशल मीडिया के द्वारा व्यापक प्रचार-प्रसार के माध्यम से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है।
कोरोना वायरस के जागरूकता के संबंध में मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नम्रता गांधी ने सभी अधिकारी, कर्मचारी को हमेशा मास्क पहनना सुनिश्चित करने, बचाव के लिए मास्क पहनना और दो गज की दूरी बनाये रखना, मास्क पहनकर दो गज की दूरी अपनाना, मास्क या घर पर बना फेस कवर पहनने, नाक और मुंह को ढंके रहने, सार्वजनिक स्थानों पर ना थूकने, संक्रमण के खतरे को बढ़ावा ना देना, अरे ……. रे …… रे रूकना, थूकने को रोकना, बुरी आदत छोड़ना, सार्वजनिक स्थानों की साफ-सफाई, बस और रेल से यात्रा के दौरान कोरोना से बचाव संबंधित सभी नियमों का सावधानी पूर्वक पालन करने, शादी एवं सामाजिक समारोह और सार्वजनिक स्थलों पर एक दूसरे से दो गज की दूरी बनाये रखने, कोरोना को मात देने के लिए अपने हाथ समय-समय पर धोते रहने, अपने हाथ को नियमित रूप से साबुन और पानी से अच्छी तरह साफ करने, तीन व्यवहार दें, कोरोना को हार- हाथों को अच्छे से साबुन और पानी से धोयें, मास्क, फेस कवर पहनें और दो गज की दूरी बनाये, हाथों से आंख, नाक और मुंह को न छुए जैसी सावधानी पूर्वक एहतियात बरतने हेतु निर्देशित किया गया है।