गरीबों को भूख से बचाने के लिए वीर नारायण सिंह ने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ खोला था मोर्चा

37

धमतरी | छत्तीसगढ़ राज्य के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शहीद वीर नारायण सिंह के शहादत पर जिला कांग्रेस कमेटी धमतरी द्वारा श्रद्धा सुमन अर्पित कर याद किया गया। शहीद वीर नारायण का जन्म 1795 में सोनाखान रामसाय बिंझवार जमीदार परिवार में हुआ था। उनके पिता जीवनभर अंग्रेजों और भोसले के विरुद्ध संघर्ष करते रहे। शहीद वीर नारायण भी उनके नक्शे कदम पर चलते हुए अंग्रेजों से लड़ते रहे। 10 दिसंबर 1857 को उन्हें रायपुर के जयस्तंभ चौक पर फांसी पर लटकाया गया था। कांग्रेसजनों ने नगर पालिक निगम सामुदायिक भवन के पास स्थित शहीद वीर नारायण सिंह के प्रतिमा स्थल पर पहुंच कर उनकी प्रतिमा में माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया |इस दौरान कांग्रेसियों ने वीर नारायण सिंह द्वारा देशराष्ट्र निर्माण में दिए गए उनके योगदान पर प्रकाश डाला| महापौर विजय देवांगन ने कहा कि छत्तीसगढ़ महतारी के सच्चे सपूत वीर नारायण सिंह ने सन् 1857 में देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में छत्तीसगढ़ की जनता में देशभक्ति की भावना का संचार किया। सन् 1856 के भयानक अकाल के दौरान गरीबों को भूख से बचाने के लिए उन्होंने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ कठिन संघर्ष किया और अपने प्राण न्योछावर कर दिए। शहीद वीर नारायण सिंह के देश की आजादी तथा मातृभूमि के प्रति समर्पण, बलिदान को हमेशा याद किया जाएगा।

पूर्व जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी ने कहा कि छत्तीसगढ़ के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी अमर शहीद वीरनारायण सिंह का शहादत दिवस 10 दिसंबर को है। 1857 में रायपुर के जयस्तंभ चौक पर अंग्रेजों ने वीर नारायण सिंह को फांसी पर लटकाने के बाद तोप से उड़ा दिया था। भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के गौरवशाली इतिहास में छत्तीसगढ़ के वीर सपूत शहीद वीर नारायण सिंह के बलिदान को हमेशा याद किया जाएगा। इस दौरान महापौर विजय देवांगन, पूर्व जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी, निगम सभापति अनुराग मसीह, विजय प्रकाश जैन, देवेन्द्र जैन, यूसुफ रिज़वी, आलोक जाधव, राजेश ठाकुर, हरमिन्दर छाबड़ा, अमरदीप साहू, विक्रांत पवार, विक्रांत शर्मा, इस्वर देवांगन, आकाश गोलछा, अरुण चौधरी, गीताराम सिन्हा, आशीष बंगानी, संकेत गुप्ता, अम्बर चन्द्राकर, तरुण रॉय, भागी निषाद, वसीम खिलची, सलीम तिगाला, ज्ञानेश सिन्हा, संदीप ध्रुव, राजेन्द्र यादव सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

tushar